12वीं बोर्ड एग्जाम के पहले दिन नकल के 6 केस बने, पढ़ें कहां-कहां पकड़े गए नकलची

पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड की 12वीं कक्षा की वार्षिक परीक्षा मंगलवार को पंजाब भर में स्थापित किए गए 1966 परीक्षा केंद्रों में बाद दोपहर 2 बजे शुरू हुई। बोर्ड के नए चेयरमैन बलबीर सिंह ढोल ने परीक्षा के शुरू में ही की गई सख्ती तथा प्रत्येक परीक्षा केंद्र पर नियुक्त किए गए ऑब्जर्वरों की मौजूदगी के कारण मंगलवार को पहले ही दिन नकल के 6 केस बने।

मंगलवार को अंग्रेजी जनरल विषय की परीक्षा हुई तथा रैगुलर और ओपन स्कूल के लगभग साढ़े 3 लाख परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी। बोर्ड के चेयरमैन बलबीर सिंह ढोल ने बताया कि उन्होंने खुद भी जिला पटियाला तथा फतेहगढ़ साहिब के परीक्षा केंद्रों का दौरा किया। हर जगह नकल रहित परीक्षा होने का समाचार मिला है और न ही परीक्षा के दौरान कोई अप्रिय घटना होने की सूचना मिली।

अमृतसर,बठिंडा, गुरदासपुर और मानसा में पकड़े नकलची:
जिला अमृतसर के सरकारी सीनियर सैकेंडरी स्कूल घन्नूपुर में नकल का एक, जिला बठिंडा के जी.एन.डी.पी. स्पैशल स्कूल तथा सरकारी सीनियर सैकेंडरी स्कूल तलवंडी साबो में 1-1, जिला गुरदासपुर के देस राज डी.ए.वी. स्कूल में एक तथा जिला मानसा के केंद्र गांधी स्कूल मानसा-3 में नकल के 2 केस बने हैं।

समय पूरा होने पर ही प्रश्न पत्र आएगा बाहर:
पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड के चेयरमैन बलबीर सिंह ढोल ने कहा है कि परीक्षा का समय समाप्त होने के बाद ही प्रश्न पत्र परीक्षा केंद्र से बाहर आ सकेगा। इससे पहले परीक्षा का आधा समय होने के बाद कोई भी परीक्षार्थी अपनी उत्तर पुस्तिका एग्जामिनर को सौंप कर अपना प्रश्न पत्र परीक्षा केंद्र से बाहर ले जा सकता था। अब कोई भी परीक्षार्थी परीक्षा का समय पूरा होने से पहले अपना प्रश्न पत्र अपने साथ नहीं ले जा सकेगा। यदि किसी परीक्षार्थी ने परीक्षा का आधा समय बीत जाने के बाद परीक्षा केंद्र से बाहर जाना होगा तो उसे अपना प्रश्न पत्र परीक्षा केंद्र के सुपरिंटैंडैंट के पास जमा करवाना होगा। जहां से वह परीक्षा का समय पूरा होने के बाद वापस ले सकेगा।

Share With:
Rate This Article