पीएम मोदी का राहुल गांधी पर तंज- नारियल से पानी निकलता है, जूस नहीं

महाराजगंज (यूपी)

यूपी विधानसभा चुनाव के छठे चरण के लिए चुनावी प्रचार करने के लिए पीएम मोदी आज महराजगंज पहुंचे. पीएम मोदी ने कहा कि एक कांग्रेस के नेता हैं, जो मणिपुर में कहते हैं कि नारियल का जूस लंदन में बेचा जाएगा. मैं लोगों से पूछता हूं कि नारियल का जूस होता है या फिर पानी. नारियल का पानी होता है जूस नहीं और यह सभी को पता है. जूस संतरे, नींबू का होता है. नारियल केरल में होता है पर ये मणिपुर में नारियल का जूस निकालेंगे. मैं उनकी लंबी उम्र होने की कामना करता हूं.

पीएम मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत भारत माता की जय के नारों के साथ की. उन्होंने कहा कि यूपी की जनता 15 साल का गुस्सा निकाल रही है. उन्होंने कहा कि जैसे इंद्रधनुष में सात रंग होते हैं, वैसे ही इस बार यूपी चुनाव में सात चरण हैं.

उन्होंने कहा कि एक तरफ वो हैं जो हावर्ड की बात करते हैं और एक तरफ ये गरीब का बेटा हार्डवर्क से देश की इकॉनमी बदलने में लगा हुआ है. पीएम मोदी ने कहा कि जब मैंने आठ नवंबर को नोटबंदी की, तब विरोधियों ने कहा कि हमें समझ नहीं आ रहा है कि देश तेज गति से आगे बढ़ रहा था. लेकिन उसी समय नोटबंदी करके पैर क्यों काट लिए.

उन्होंने कहा कि वो पहले कहते थे कि विकास नहीं हो रहा है. फिर कहने लगे कि नोटबंदी से नौकरी चली गई, बेरोजगारी बढ़ गई. कोई कहता था कि दो फीसद जीडीपी गिर जाएगी, लेकिन अब जब आंकड़े आए तो यह सिद्ध हो गया नोटबंदी के बावजूद भारत के विकास में कोई आंच नहीं आई.

पीएम मोदी ने कहा कि जब जीडीपी के आंकड़े आ गए तो अब ये नेता कह रहे हैं कि ये आंकड़े कहां से आए. मैं कहता हूं कि जो आंकड़े आपकी सरकार में जहां से आते थे, इस बार भी आंकड़े वहीं से आए हैँ. उन्होंने कहा कि यूपी सरकार की आधिकारिक वेबसाइट में लिखा है कि यूपी में जिंदगी बहुत छोटी होती है. कब मर जाएं कोई भरोसा नहीं. यह अखिलेश सरकार की अधिकृत वेबसाइट पर लिखा है. अब आज ही अखिलेश सरकार बड़े अधिकारियों पर गाज गिराएगी.

उन्होंने कहा कि यह चुनाव गरीबों के हक, भाई-भतीजेवाद से मुक्ति, अपने पराए से भेद मुक्ति का चुनाव है. अखिलेश यादव 6 महीने से बोल रहे हैं कि काम बोल रहा . लेकिन मैं पूछना चाहता हूं कि क्या काम बोल रहा है, या कारनामें बोल रहे हैं.

पीएम मोदी ने आगे कहा कि भारत सरकार बेघरों को घर देना चाहती है. इसके लिए हमनें यूपी सरकार से ऐसे तीस लाख लोगों की सूची मंगाई जिनके पास घर नहीं है. हम उनके घर का सपना पूरा करना चाहते हैं.

Share With:
Rate This Article