किम जोंग नाम हत्या मामला: दो महिलाओं पर मलेशियाई कोर्ट ने लगाए आरोप

उत्तर कोरिया के नेता के सौतेले भाई किम जोंग नाम की हत्या के मामले में दो महिलाओं पर आरोप लगाए गए। किम जोंग नाम की पिछले महीने मलेशियाई हवाईअड्डे पर हत्या कर दी गई थी। कुआलालम्पुर की एक अदालत ने 13 फरवरी को हुई इस हत्या के मामले में इंडोनेशियाई महिला सीती एसयाह और वियतनाम की दोआन थी हुओंग पर आरोप लगाए। आरोप लगाए जाने के दौरान दोनों महिलाओं के आसपास बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात थे। वहीं महिलाओं ने अपने पक्ष में कोई दलील नहीं दी क्योंकि मजिस्ट्रेट कोर्ट हत्या के मामले में इसकी इजाजत नहीं देता। अगर दोनों महिलाओं को सजा हो गई तो उन्हें डेथ पेनेल्टी दी जाएगी। किम जोंग नाम की 13 फरवरी को एयरपोर्ट पर हत्या कर दी गई थी। विदेशी मीडिया की रिपोर्ट्स के मुताबिक हत्या दो महिलाओं ने बड़ी ही चालाकी से जहरीली सुई चुभोकर की थी। वहीं इस हत्या के पीछे उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन की साजिश होने की भी कई खबरें सामने आई हैं।

हालांकि किम जोंग नाम की हत्या के तरीके को लेकर अभी भी संशय बना हुआ है। रिपोर्ट्स के मुताबिक यह जानकारी भी सामने आ रही है कि दोनों महिलाओं ने किम के चेहरे पर, कपड़े पर लगा हुआ तरल पदार्थ लगाया था जिसके बाद उसकी मौत हो गई थी। वहीं रिपोर्ट्स के मुताबिक दोनों महिलाओं ने इस बात को लेकर कहा है कि उन्होंने यह काम एक टीवी शो के प्रैंक के तहत किया था। इस टीवी शो के प्रैंक के लिए उन्हें पैसे भी दिए गए थे। किम जोंग नाम की हत्या के बाद मलेशिया और उत्तर कोरिया के संबंधों में भी तनाव बढ़ रहा है।

बीते मंगलवार को उत्तर कोरिया से एक डेलिगेशन किम के शव को लेने आया था लेकिन मलेशिया ने बिना डीएनए सैंपल्स और सबसे करीबी रिश्तेदार से कंफर्मेशन लेने के बाद ही शव देने की बात कही। वहीं इस मामले को लेकर डेलिगेशन के एक सदस्य ने कहा कि हम दोनों देशों के बीच दोस्ताना संबंधों का विकास चाहते हैं। वहीं मलेशिया का दावा है कि मारा गया शख्स किम जोंग नाम है तो उत्तर कोरिया दावा कर रहा है कि वह सिर्फ उत्तर कोरिया का नागरिका था जिसका डिप्लोमैटिक पासपोर्ट पर नाम किम चोल था।

Share With:
Rate This Article