जाट आरक्षण आंदोलन का आज 29वां दिन, आंदोलनकारी मना रहे हैं ‘काला दिवस’

चंडीगढ़

हरियाणा में पिछले साल जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान दर्ज मुकदमों को वापस लेने समेत कई मांगों को लेकर जाट समुदाय का आंदोलन 29वें दिन भी जारी है. मांगें पूरी न होते देख अब जाट नेताओं ने तेवर कड़े कर दिए हैं.

वहीं, हरियाणा में जाट आंदोलनकारी आज काला दिवस मना रहे हैं. धरना स्थलों में काले रंग की पगडियां और पट्टियां पहनकर आंदोलनकारी इक्ट्ठा हो रहे हैं. धरने में खासतौर पर महिलाओं की भागादारी देखी जा रही है.

जाट नेताओं का कहना है कि सरकार और स्थानीय प्रशासन को शांति की बोली समझ नहीं आ रही है. सरकार की तरफ से लगातार टकराव की स्थिति पैदा की जा रही है. उधर सरकार मुद्दे को बातचीत के टेबल पर हल करना चाहती है.

वहीं दूसरी तरफ, जाट समुदाय के काला दिवस मनाने को लेकर सरकार और प्रशासन अलर्ट नजर आ रहा है. कल अतिरिक्त गृह सचिव रामनिवास ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी जिलों के अधिकारियों को दिशा-निर्देश जारी किए.

सभी जिला उपायुक्तों, पुलिस आयुक्तों और पुलिस अधीक्षकों को हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा हैं. सभी जगह पर ड्यूटी मजिस्ट्रेट तैनात कर दिए गए हैं. सुरक्षा व्यवस्था को लेकर ड्रोन कैमरों से भी नजर रखी जाएगी, ताकि आम लोगों को कोई परेशानी ना हो.

धरना स्थलों के बाहर भारी पुलिस बल तैनात है. हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही है. इसके अलवा सोशल मीडिया के जरिए उपद्रवी माहौल खराब करने की कोशिश ने करें. उसके लिए पानीपत, सोनीपत, रोहतक में इंटरनेट सेवा बंद है.

Share With:
Rate This Article