….तो क्या शीला दीक्षित को राहुल गांधी मेच्योर नहीं लगते ?

कांग्रेस की सीनियर नेता शीला दीक्षित ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा कि राहुल गांधी अभी मेच्योर नहीं हुए हैं और राजनीति में उन्हें अभी और समय मिलना चाहिए। दरअसल, शीला दीक्षित से यह सवाल पूछा गया था कि कांग्रेस का ग्राफ कई राज्यों में गिर रहा है। यह ऐसे वक्त में हो रहा है जब राहुल आक्रमक रूप से रैलियां कर रहे हैं। ऐसे में क्या गलत हो रहा है? इसपर शीला दीक्षित ने कहा, ‘आप लोग देख रहे हैं कि राजनीति बदल रही है। अब यह वैसी नहीं रही जैसी कुछ सालों पहले हुआ करती थी। राजनीति की भाषा भी बदल गई है। उदाहरण के लिए पीएम मोदी ने पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के लिए जिस तरीके की भाषा का इस्तेमाल किया वैसा पहले कोई सोच भी नहीं सकता था। ऐसे बदलते वक्त में कांग्रेस अपने आपको ढाल रही है। और कृपया यहां ध्यान रखें कि राहुल अभी भी मेच्योर नहीं हैं। मेच्योर होने वाली उनकी उम्र भी नहीं है। वह अभी चालीस साल के ही तो हैं। कृपया उन्हें वक्त दें। राहुल अकेले ऐसे नेता हैं जो किसानों की बात करते हैं।’

बातचीत में शीला ने यह भी कहा कि वह सपा-कांग्रेस के गठबंधन के बाद दोनों के लिए प्रचार भी कर रही हैं। शीला ने कहा कि वह हर उस जगह पर प्रचार के लिए जाती हैं जहां पर पार्टी की तरफ से उनको भेजा जाता है। हालांकि, उन्होंने कानपुर, बनारस जैसी कुछ जगहों का नाम भी लिया जहां वह अपनी खराब सेहत की वजह से रैली करने नहीं जा पाईं।
गौरतलब है कि शीला दीक्षित को पहले कांग्रेस ने यूपी में अपना सीएम कैंडिडेट बनाया था। लेकिन फिर कांग्रेस और समाजवादी पार्टी का गठबंधन हो गया। सपा से गठबंधन होने के बाद शीला ने अपनी मर्जी से दावेदारी वापस ले ली। उन्होंने कहा था कि वह अखिलेश को सीएम बनते देखकर खुश होंगी।

Share With:
Rate This Article