जानें कैसा रहा ‘जलयुद्ध’ आंदोलन, कैसे जेल पहुंच गए इनेलो नेता?

अंबाला/पटियाला

अंबाला में आज जलयुद्ध सम्मेलन के बाद इनेलो नेता अभय चौटाला ने पार्टी हजारों पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ पंजाब की तरफ कूच किया, जहां वो SYL नहर खोदने वाले थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें शंभू बॉर्डर पर ही रोक लिया.

इस दौरान इनेलो कार्यकर्ताओं ने पुलिस बैरिकेड्स तोड़कर नहर की तरफ जाने की कोशिश की, लेकिन वहां तैनात बड़ी संख्या में पुलिस बल ने उन्हें रोक लिया. इसके बाद कार्यकर्ताओं ने सड़क पर ही खुदाई शुरू कर दी.

वहीं, पंजाब पुलिस ने कार्यकर्ताओं से हाइवे खाली करने के लिए कहा, जिसके बाद पुलिस ने गिरफ्तारी शुरू कर दी. जबकि, इनेलो नेता अभय चौटाला ने पार्टी नेताओं के साथ गिरफ्तारी दी.

पटियाला पुलिस ने गिरफ्तार किए गए इनेलो नेताओं और कार्यकर्ताओं को तीन दिन तक कोर्ट में छुट्टी होने की वजह से पटियाला जेल में शिफ्ट कर दिया. अब सोमवार को इन लोगों की कोर्ट में पेशी हो सकेगी.

गौरतलब है कि SYL नहर खुदाई को लेकर दी चेतावनी के तहत आज इनेलो का काफिला संभू बार्डर पहुंचा. इनेलो के इस काफिले के अगुवाई अभय चौटाला कर रहे थे. इसके अलावा प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा समेत पार्टी के कई नेता काफिले में मौजूद रहे. संभू बार्डर से गिरफ्तारी देने के बाद अभय चौटाला ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के बहाने हमें रोका गया. अब पंजाब के नेताओं को वो हरियाणा में घुसने नहीं देंगे.

इससे पहले अभय चौटाला ने अंबाला की सब्जी मंडी में रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला हरियाणा के पक्ष में आया, फिर भी हरियाणा को पानी नहीं मिला क्योंकि इस मुद्दे पर जमकर राजनीति हुई. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने एसवाईएल को लेकर झूठा प्रचार किया. अभय ने कहा कि हम संवैधानिक तरीके से अपना हक लेकर रहेंगे

वहीं, इनेलो के एसवाईएल खुदाई अभियान को देखते हुए हरियाणा-पंजाब बॉर्डर पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए थे. पंजाब में शम्भू बॉर्डर से लेकर कपूरी तक पंजाब पुलिस और अर्धसैनिक बल के करीब छह हजार जवानों ने मोर्चा संभाला हुआ था. स्थिति पर नजर रखने के लिए शम्भू बॉर्डर के पास मुगल सराय में कंट्रोल रूम बनाया गया था. राजपुरा के कपूरी गांव में भी अर्धसैनिक बल मोर्चा संभाले हुए थे. इसके अलावा ड्रोन के जरिए भी स्थिति पर नजर रखी जा रही थी. अंबाला से राजपुरा तक नेशनल हाइवे नंबर वन को भी बंद रखा गया था. ट्रैफिक को अंबाला से वाया जीरकपुर, चंडीगढ़ डायवर्ट किया गया था.

वहीं, इनेलो के एसवाईएल नहर खुदाई अभियान को लेकर चंडीगढ़ में पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष कैप्टन अमरिंदर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने कहा कि एसवाईएल मुद्दे को अभय चौटाला ने राजनीतिक मुद्दा बना दिया है.

उधर, हरियाणा के कैबिनेट मंत्री अनिल विज ने एसवाईएल नहर खुदाई के अभियान को लेकर इनेलो पर तंज कसा है. एमएचवन न्यूज से बात करते हुए अनिल विज ने इनेलो के अभियान पर सवाल उठाए है और कहा कि इनेलो का शो, पर्दा उठने से पहले ही फेल हो गया है.

जबकि, कांग्रेस प्रवक्ता तरुण भंडारी ने इस मामले को राजनीतिक साख बढ़ाने की कोशिश बताया है, एमएचवन न्यूज से बात करते हुए तरुण भंडारी ने इनेलो के इस अभियान में दुष्यंत चौटाला के शामिल न होने पर भी सवाल उठाए. उन्होंने कहा कि इनेलो का ये जल युद्ध नहीं गृह युद्ध है.

वहीं, हरियाणा सरकार में सीपीएस बख्शीश सिंह ने इनेलो के एसवाईएल खुदाई अभियान को राजनीतिक स्टंट करार दिया है. उन्होंने कहा कि इनेलो कभी भी एसवाईएल को लेकर गंभीर नहीं रही. अब महज अपने सियासी फायदे के लिए नौटंकी कर रही है.

Share With:
Rate This Article