उमर खालिद को रामजस कॉलेज में बुलाने पर हंगामा, ABVP और AISA में झड़प

दिल्ली

दिल्ली यूनिवर्सिटी के रामजस कॉलेज में बुधवार को एबीवीपी और AISA कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक भिड़ंत हुई. जेएनयू के छात्र नेता उमर खालिद और शेहला राशिद को रामजस में बुलाने को लेकर शुरू हुए विवाद ने हिंसक रूप ले लिया.

AISA ने एबीवीपी पर पथराव और मारपीट करने का आरोप लगाया है. हालांकि एबीवीपी ने इन आरोपों को खारिज कर दिया है. दरअसल, मंगलवार को भी उमर खालिद और शेहला राशिद को निमंत्रण के मुद्दे पर एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने हंगामा किया था. रामजस कॉलेज प्रशासन ने ‘कल्चर ऑफ प्रोटेस्ट’ नाम के दो दिवसीय कार्यक्रम में दोनों को निमंत्रण दिया था.

बुधवार को निमंत्रण रद्द करने के मसले को लेकर विरोध-प्रदर्शन शुरू हो गए. बताते चलें कि शहरा राशिद जहां जेएनयू छात्रसंघ की पूर्व उपाध्यक्ष रही हैं वहीं उमर खालिद उन 5 स्टूडेंट्स में से एक हैं जिनपर पिछले साल राजद्रोह का केस दर्ज हुआ था.

मंगलवार को छात्र संगठन एबीवीपी के कार्यकर्ता कॉलेज के बाहर इकट्ठा होकर नारे लगाने लगे थे. इन छात्रों की मांग थी कि ‘देश द्रोहियों’ को बुलाने का निमंत्रण रद्द किया जाए. सेमिनार के आयोजकों का दावा है कि एबीवीपी के सदस्यों ने पत्थर फेंके, सेमिनार कक्ष को बंद किया और बिजली की आपूर्ति काट दी. एबीवीपी ने इस आरोप का खंडन किया है.

तब रामजस कॉलेज के प्रधानाध्यापक राजेंद्र प्रसाद ने घोषणा की थी कि, ‘हालांकि सेमिनार चलेगा लेकिन हमने इन छात्रों की भागीदारी रद्द कर दी है. ऐसा नहीं है कि हम अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की वकालत नहीं करते हैं, लेकिन कैंपस की शांति का ख्याल रखते हुए ही ऐसा किया जा सकता है.’

Share With:
Rate This Article