तीसरा चरण भी पूरा नहीं हुआ और अखिलेश का हौसला पस्त हो गया: पीएम मोदी

लखनऊ

पीएम नरेंद्र मोदी ने आज फतेहपुर की विजय शंखनाद रैली में सूबे की सपा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि सरकारी खजाने से धन लुटाकर, टीवी और अखबारों में छाने का प्रयास कर यूपी की सपा सरकार ने सोचा था कि लोगों की आंख में धूल झोंकेंगे. लेकिन जनता सब कुछ जानती है.

पीएम मोदी ने अखिलेश यादव सरकार पर हमला करते हुए कहा कि सरकार की मंशा जनता को समझ में आती है. उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को पुरखों के नाम का सहारा लेना पड़ रहा है. राहुल गांधी और कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि जिन लोगों ने 27 साल यूपी बेहाल का नारा दिया. उन्‍होंने गांव-गांव जाकर पाया कि कुछ हो नहीं पा रहा है. भारी प्रचार करने वालों को भी लगा पांच साल बीत गए जनता का विश्वास टूट गया. ऐसे में दोनों ने एक दूसरे का हाथ थामा ताकि डूबने से बच जाएं.

पीएम मोदी ने राहुल-अखिलेश की संयुक्त रैली पर कटाक्ष करते हुए कहा, पहले ही दिन रथ पर जब दोनों निकले तो रास्तों पर तार मिले. तारों के बीच में कांग्रेस उपाध्यक्ष डर रहे थे. वो झुक रहे थे. लेकिन अखिलेश जी नहीं डर रहे थे क्योंकि उन्हें पता था कि तार है बिजली नहीं है.

पीएम मोदी ने कहा कि सपा पहले कहती थी कि किसी से समझौता नहीं होगा. 2/3 बहुमत से जीतेंगे. फिर दोनों लोग मिल गए और फिर कहने लगे कि बहुमत मिल जाएगा. लेकिन आज मतदान के बाद अखिलेश यादव का चेहरा लटका हुआ था. आवाज में दम नहीं था. डरे हुए थे, शब्द खोज रहे थे. लगा जैसे बाजी हार चुके हैं. आज कहने लगे हमारी पार्टी सबसे बड़ी पार्टी बनेगी.

पीएम मोदी ने कहा कि अभी तो तीसरा चरण पूरा नहीं हुआ और हौसले पस्त हो गए. पीएम मोदी ने कहा कि जनता से धोखा देश बर्दाश्त नहीं करता है. पीएम मोदी ने कहा कि मैंने कहा था कि सपा के राज में यूपी में थाने सपा का कार्यालय बन गए थे. क्योंकि पुलिस को मजबूर किया गया.

पीएम मोदी ने कहा कि इस देश के सुप्रीम कोर्ट को यूपी को डांटना पड़ा कि गायत्री प्रजापति के खिलाफ एफआईआर लिखो. इस राज्य में थाने का यह हाल था, बलात्कार करने वालों को खुली छूट होगी. न्याय पाने के लिए बहु बेटी को सुप्रीम कोर्ट पहुंचना पड़े. क्या यही काम है. क्या ऐसे काम करने के लिए सपा सरकार बनाई गई थी. ये काम है कि कारनामा….

Share With:
Rate This Article