जाट बलिदान दिवस: प्रदेश भर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम, सोनीपत में इंटरनेट-SMS बंद

चंडीगढ़

हरियाणा में जाट समुदाय के लोग आज ‘जाट बलिदान दिवस’ मना रहे हैं. इसके मद्देनजर रोहतक और सोनीपत में इंटरनेट और SMS सेवा बंद कर दी गयी है. साथ ही, शराब की बिक्री पर भी रोक लगा दी गयी है. साथ ही पानीपत, रोहतक हाइवे को बंद कर दिया गया है और रोहतक और सोनीपत जाने वाली रोडवेज बसें भी आज नहीं चलेंगी.

प्रदेश के कई जिलों में जाट समुदाय के लोगों ने कार्यक्रमों का आयोजन किया हुआ है. इन कार्यक्रमों में जाट आरक्षण आंदोलन में मारे गए 31 लोगों को श्रद्धांजलि दी जाएगी.

वहीं, बलिदान दिवस को लेकर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है. रोहतक, झज्जर, भिवानी, चरखी दादरी और रेवाड़ी में अर्धसैनिक बलों की टुकडियां तैनात की गई है. साथ ही बातचीत के जरिए भी आंदोलन खत्म कराने की कोशिश की जा रही है और लोगों से शांति बनाए रखने की अपील भी की जा रही है.

जाट नेताओं के ‘बलिदान दिवस’ मनाकर आरक्षण के लिए अपना आंदोलन तेज करने की चेतावनी के बीच हरियाणा पुलिस ने कहा कि किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए अधिकतम संख्या में बलों की तैनाती की गई है.

जाट समुदाय के लिए शिक्षा और सरकारी नौकरियों में आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन रविवार को 22वें दिन में प्रवेश कर गया. हरियाणा के एडीजीपी (कानून एवं व्यवस्था) मोहम्मद अकिल ने शनिवार को संवाददाताओं से कहा, हरियाणा से और राज्य के बाहर से रविवार को बलों की अधिकतम तैनाती होगी. उन्होंने कहा कि आंदोलन के ताजा दौर के मद्देनजर अर्द्धसैनिक बलों की 37 कंपनियां तैनात की जाएंगी.

उन्होंने कहा कि आंदोलन का नेतृत्व करने वाले जाट नेताओं ने हरियाणा सरकार की ओर से गठित वरिष्ठ नौकरशाहों की समिति के साथ एक दौर की बातचीत की है और अगला दौर 20 फरवरी को होने की उम्मीद है. अकिल ने कहा कि वह उम्मीद करते हैं कि धरने पर बैठे लोग उसी तरह से शांति बनाये रखेंगे जैसा वे आंदोलन के वर्तमान दौर में रख रहे हैं.

यह पूछे जाने पर कि क्या रविवार को आंदोलन की निगरानी के लिए ड्रोन कैमरों का इस्तेमाल किया जाएगा, एडीजीपी ने कहा कि क्षेत्र में तैनात अधिकारी इस संबंध में फैसला करेंगे.

उन्होंने कहा कि रविवार के लिए कोई यातायात परामर्श जारी नहीं किया गया है. उन्होंने यह भी कहा कि हरियाणा पुलिस, केंद्रीय बल एवं अन्य एजेंसियां यह सुनिश्चित करने के लिए एक-दूसरे के साथ समन्वय कर रही हैं कि शांति और कानून एवं व्यवस्था बरकरार रहे.

Share With:
Rate This Article