‘विश्वास टूटने’ का नतीजा है फ्लिन का इस्तीफा

वाशिंगटन

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार पद से माइकल फ्लिन द्वारा इस्तीफा दिए जाने के संदर्भ में वॉइट हाउस ने कहा है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ‘विश्वास कम होने’ और अन्य ‘संदिग्ध घटनाओं’ के चलते उनसे इस्तीफा मांगा, न कि किसी कानूनी मुद्दे के चलते।

वॉइट हाउस के प्रेस सचिव सीन स्पाइसर ने कल संवाददाताओं से कहा,’हम सच्चाई का पता लगाने के लिए पिछले कुछ सप्ताह से नियमित आधार पर जनरल फ्लिन से जुड़े इस मुद्दे की समीक्षा और आकलन कर रहे थे। हमें किसी कानूनी मुद्दे के आधार पर नहीं बल्कि राष्ट्रपति और जनरल फ्लिन के बीच विश्वास के स्तर के आधार पर एक बिंदु मिल गया। हमने पाया कि दोनों के बीच के विश्वास का स्तर इस कदर कमजोर हो गया था कि राष्ट्रपति को लगा कि बदलाव करना ही होगा। राष्ट्रपति इस बात से बेहद चिंतित थे कि जनरल फ्लिन ने उपराष्ट्रपति और अन्य को भ्रमित किया।’

फ्लिन ने कल इस्तीफा दे दिया था। इस्तीफा देने से पहले उन्होंने ट्रंप और उपराष्ट्रपति माइक पेंस से इस बात के लिए माफी मांगी थी कि उन्होंने ट्रंप के शपथ ग्रहण से पहले रूसी राजदूत के साथ हुई अपनी बातचीत से जुडी सारी जानकारी इन दोनों को नहीं दी थी।

Share With:
Rate This Article