200 किमी की स्पीड से चलेंगी ट्रेनें, रेलवे कर रहा है तैयारी

रेलवे अब प्रति घंटे 200 किमी की रफ्तार वाले इंजनों को लाने की तैयारी कर रहा है। रेलवे के लिए जर्मनी में तैयार किए गए 200 किमी की स्पीड वाले इंजनों का हाल ही में ट्रायल किया गया है। रेलवे जर्मनी में ही बने हुए ऐसे 19 इंजनों का आयात करेगा जबकि इसी तकनीक से मधेपुरा की इंजन फैक्टरी में 1,000 इंजनों का निर्माण किया जाएगा।

रेलवे के अफसरों का कहना है कि जर्मनी की कंपनी के साथ हुए करार के तहत इंजनों का निर्माण जर्मनी में हुआ है और वहीं पर इसका ट्रायल भी किया गया। प्रक्रिया पूरी होने के बाद इन इंजनों का भारत आना शुरू हो जाएगा। इंजनों की खासियत यह भी है कि ये 12 हजार हार्स पावर की क्षमता वाले होंगे। अभी रेलवे के पास जो इंजन हैं, उनकी अधिकतम क्षमता छह हजार हार्स पावर की है।

अधिकारियों के मुताबिक, माल ढुलाई और पहाड़ी इलाकों में चलने वाली कई पैसेंजर ट्रेनों की रफ्तार बढ़ाने के लिए दो-दो इंजनों का इस्तेमाल करना पड़ता है। लेकिन इन नए इंजनों के आने से एक ही इंजन से ऐसी ट्रेनों को चलाया जा सकेगा। अधिकारियों ने बताया कि इन इंजनों के आने का फायदा डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर को भी होगा, क्योंकि 2019 के बाद मालगाड़ियां उस कॉरिडोर पर शिफ्ट होना शुरू हो जाएंगी। इन इंजनों का फायदा यह भी होगा कि इससे ट्रेनों की स्पीड बढ़ाई जा सकेगी।

Share With:
Rate This Article