सिख दंगा पीड़ितों ने कोर्ट से टाइटलर का जबरन लाई-डिटेक्टर टेस्ट कराने की मांग की

लुधियाना

1984 सिख विरोधी दंगों के आरोपी कांग्रेसी नेता जगदीश टाइटलर के लाई डिटेक्टर टेस्ट का मामला गरमाता जा रहा है. कोर्ट में टाइटलर का जबरन लाई-डिटेक्टर टेस्ट कराए जाने की मांग की गई है.

बता दें कि दंगा पीड़ितों की पैरवी कर रहे 1984 सिख कत्लेआम वेलफेयर सोसाइटी ने कोर्ट से गुहार लगाई है कि जगदीश टाइटलर का जबरन लाई-डिटेक्टर टेस्ट कराया जाए. ताकि 32 साल से न्याय के गुहार लगा रहे सिखों को न्याय मिल सके.

संगठन ने जगदीश टाइटलर के घर के बाहर प्रदर्शन करने का एलान करते हुए केंद्र सरकार से भी नाखुशी जाहिर की.

बता दें कि CBI ने दिल्ली के कड़कड़डूमा कोर्ट से टाइटलर का लाई-डिटेक्टर टेस्ट कराए जाने की मांग की थी, जिसे लेकर कोर्ट ने टाइटलर को उसके समक्ष पेश होना का आदेश जारी किया था, लेकिन टाइटलर कोर्ट में पेश नहीं हुए और साथ ही उन्होंने लाई-डिटेक्टर टेस्ट कराने से भी मना कर दिया.

Share With:
Rate This Article