तमिलनाडु: पनीरसेल्वम को मिली और मजबूती, शशिकला ने दी आंदोलन की धमकी

चेन्नई

तमिलनाडु में मुख्यमंत्री ओ. पनीरसेल्वम को शनिवार को तब और मजबूती मिल गई जब अन्नाद्रमुक महासचिव शशिकला का साथ छोड़कर पार्टी के एक विधायक और चार सांसद उनके खेमे में शामिल हो गए.

वहीं, बदलते घटनाक्रम के मद्देनजर शशिकला ने रिसॉर्ट में ठहरे उन विधायकों से जाकर मुलाकात की जो उनका समर्थन कर रहे हैं. साथ ही उन्होंने शपथ ग्रहण में हो रहे विलंब के चलते रविवार को विरोध प्रदर्शन करने का भी एलान किया. उन्होंने रात में कहा कि राज्यपाल द्वारा उन्हें सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करने में विलंब ऐसा प्रतीत होता है कि ‘हमारी पार्टी में टूट को सुगम’ बनाने के लिए है.

शनिवार को वरिष्ठ अन्नाद्रमुक नेता और पार्टी प्रवक्ता सी. पोन्नाईयन और पूर्व मंत्री एमएम राजेंद्र प्रसाद पन्नीरसेल्वम के साथ आ गए. पोन्नाईयन एमजी रामचंद्रन की कैबिनेट में मंत्री भी रह चुके हैं. उनके अलावा राज्य के स्कूली शिक्षा मंत्री के. पंडियाराजन ने भी निष्ठा बदलते हुए शशिकला का साथ छोड़ दिया. पन्नीरसेल्वम का समर्थन करने वाले वह राज्य के पहले मंत्री हैं.

जबकि, 37 अन्नाद्रमुक सांसदों में से चार के. अशोक कुमार (कृष्णागिरी), पीआर सुंदरम (नामाक्कल), सत्यबामा (तिरुपुर) और वनरोजा (तिरुवन्नामलई) भी कार्यवाहक मुख्यमंत्री के खेमे में शामिल हो गए. उन्होंने पन्नीरसेल्वम के घर जाकर उनसे मुलाकात भी की.

दूसरी तरफ, अन्नाद्रमुक महासचिव शशिकला ने जहां कूवाथुर स्थित बीच रिसॉर्ट पहुंचकर समर्थक पार्टी विधायकों से करीब एक घंटे तक आगे की रणनीति पर चर्चा की, वहीं उन्होंने राज्यपाल विद्यासागर राव को पत्र लिखकर समर्थक विधायकों के साथ मिलने के लिए समय भी मांगा.

इस पत्र में उन्होंने लिखा है कि कार्यवाहक मुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम अपने पद से इस्तीफा दे चुके हैं और हफ्तेभर पहले राज्यपाल उसे स्वीकार भी कर चुके हैं. लिहाजा, उन्हें जल्द से जल्द शपथ दिलाने के लिए कदम उठाए जाएं. उन्होंने लिखा है कि वह अपने समर्थन में विधायकों की परेड कराने के लिए भी तैयार हैं.

Share With:
Rate This Article