अब रात में बिजली इस्तेमाल करने पर जेब करनी होगी और ढीली

खन्ना

पावर कॉम ने चुपके से रात को प्रयोग होने वाली बिजली पर घटाए गए प्रति यूनिट पर भी इलैक्ट्रीसिटी ड्यूटी चार्ज करने का फरमान जारी कर दिया, जिससे रात 10 से सुबह 6 बजे तक उद्योगों द्वारा प्रयोग की जाने वाली बिजली 2 प्रतिशत महंगी हो जाएगी। पावर कॉम के चीफ इंजीनियर रैगुलेशन द्वारा जारी पत्र में कहा गया कि रात को प्रयोग होने वाली बिजली पर जो प्रति यूनिट टी.ओ.डी. छूट दी गई है, उस पर भी पंजाब सरकार को अदा किए जाने वाला बिजली शुल्क वसूला जाएगा।

जनवरी महीने से जारी किए जाने वाले बिलों में बढ़ाए गए दाम वसूलने के साथ 1 अक्तूबर से लागू टी.ओ.डी. रेट पर पिछला बकाया वसूलने की तैयारी पावर कॉम ने शुरू कर दी है। इस बाबत आल इंडिया स्टील री-रोलर्ज एसोसिएशन के वरिष्ठ उप प्रधान हरमेश जैन ने बताया कि उद्योगों के लिए दिन में अलग व रात को 1 रुपए कम कर अलग से रेट तय किए गए हैं जो कि किसी भी प्रकार से छूट की श्रेणी में नहीं आते। इसलिए पावर कॉम के इस फैसले से उद्योगों पर पडऩे वाले लाखों रुपए के प्रति महीना गैर-कानूनी बोझ को अदालत में चुनौती दी जाएगी।

मुख्य इंजीनियर रैगुलेशन का कहना है कि जब कोई पीक लोड जैसा जुर्माना लगाया जाता है तो उस पर इलैक्ट्रीसिटी ड्यूटी नहीं चार्ज की जाती। इस प्रकार अगर कोई छूट दी जाती है तो उस पर भी इसी तर्क के अंतर्गत इलैक्ट्रीसिटी ड्यूटी चार्ज करनी बनती है। उल्लेखनीय है कि इलैक्ट्रीसिटी ड्यूटी ग्राहकों से चार्ज कर सीधा पंजाब सरकार के खजाने में जमा होती है। इसलिए पंजाब सरकार द्वारा लगाए गए टैक्स को रैगुलेटरी कमिशन में चुनौती भी नहीं दी जा सकती, जिससे उद्योगों को इस टैक्स की वसूली के विरोध में हाईकोर्ट जाना पड़ेगा।

Share With:
Rate This Article