आरक्षण पर बयान देकर घिरीं अपर्णा यादव, बीजेपी ने किया तीखा हमला

लखनऊ

मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव ने आरक्षण के मुद्दे पर एक बयान देकर खुद को और पार्टी को राजनीतिक हाशिये पर खड़ा कर दिया है. अपर्णा का ये बयान ऐसे समय आया है जब यूपी में मतदान को एक हफ्ते का भी समय नहीं बचा है.

बता दें कि एक न्यूज़ वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में अपर्णा ने आर्थिक आधार पर आरक्षण की वकालत की और खुद को जातिगत आरक्षण का विरोधी बताया था. इस बयान से अब अपर्णा से लेकर समाजवादी पार्टी बैकफुट पर है.

वहीं, अपर्णा के इस बयान पर बीजेपी ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने इस पर मुलायम सिंह यादव और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से जवाब मांगा है.

यूपी चुनाव में एक बार फिर से आरक्षण का जिन्न निकल आया है. समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव के खिलाफ बीजेपी ने मोर्चा खोल दिया है. बीजेपी अब अपर्णा के बयान को चुनावी मैदान में उछालने लगी है.

आपको बता दें कि यूपी में 41 फीसदी ओबीसी वोटर हैं जबकि 21 फीसदी दलित आबादी है. तो वहीं ओबीसी और दलितों को 49.5 फीसदी आरक्षण मिलता है.

यादवों को छोड़कर ओबीसी वोट बैंक का बड़ा हिस्सा बीजेपी का समर्थक है. यही वजह है कि बीजेपी इसे तूल देने में जुटी है और अपर्णा सफाई देकर विवाद को बढ़ने से रोकने की कोशिश में हैं. अपर्णा यादव लखनऊ कैंट से चुनाव लड़ रही हैं.

ये अलग बात है कि कि आरएसएस के नेता पिछले महीने ही आरक्षण खत्म करने की बात कह चुके हैं. बिहार चुनाव में भी मोहन भागवत का आरक्षण वाला बयान बीजेपी की हार का एक बड़ा कारण साबित हुआ था.

Share With:
Rate This Article