भोपाल-रायपुर मर्डर केस में उठे 10 सवाल, कब मिलेंगे इनके जवाब

रायपुर

भोपाल में गर्लफ्रेंड की हत्या कर चबूतरे में दफन किए जाने के मामले में अब कई सवाल उठ रहे हैं। सबसे अहम यह कि आरोपी उदयन दास मां की हत्या के पांच साल बाद तक उनकी पेंशन बगैर लाइफ सर्टिफिकेट के कैसे लेता रहा? बता दें कि आरोपी ने कबूल किया है कि उसने गर्लफ्रेंड आकांक्षा शर्मा को भोपाल में और माता-पिता को रायपुर में मारकर जमीन में दफन कर दिया था। रविवार को रायपुर में उसकी निशानदेही पर हुई खुदाई में हड्डियां भी मिलीं।

मर्डर मिस्ट्री के 10 सवाल
1. उदयन की मानें तो उसने 2011 में अपने माता-पिता की हत्या कर दी थी। सवाल ये कि वो मां की पेंशन बैंक से कैसे निकालता रहा? जबकि, रूल्स के मुताबिक, पेंशनर को हर साल खुद बैंक जाकर लाइफ सर्टिफिकेट देना होता है।
2. उदयन की मां भोपाल के विंध्याचल भवन में एनालिस्ट थीं। क्या कभी उनके साथ काम करने वालों ने उनकी खोज-खबर नहीं ली?
3. उदयन के परिवार में और कौन-कौन हैं? उसके रिश्तेदार कहां हैं? क्या उन लोगों ने इनसे कभी कॉन्टैक्ट करने की कोशिश नहीं की? ये डिटेल उदयन के माता-पिता की सर्विस बुक से मिल सकती है।
4. उदयन अगर साइको है और उसकी जिंदगी इतनी बेतरतीब है तो फिर आकांक्षा उसे बर्दाश्त क्यों करती रही? क्या उसने कभी अपने घर कोलकाता वापस जाने के बारे में नहीं सोचा? ये सवाल इसलिए अहम है क्योंकि उदयन के घर जब पुलिस पहुंची तो वहां हर सुख-सुविधा का सामान था, लेकिन पूरे घर में गंदगी थी।
5. आकांक्षा की फैमिली ने उसकी बातों पर इतनी आसानी से कैसे भरोसा कर लिया कि वह अमेरिका में रह रही है। जब उससे जुलाई 2016 से कॉन्टैक्ट नहीं हो रहा था तो फिर उन्होंने 5 महीने बाद दिसंबर में ही पुलिस से शिकायत क्यों की?
6.बताया जा रहा है कि आकांक्षा के किसी दोस्त से बात करने से उदयन खफा था। इसलिए उसने आकांक्षा को मारा। सवाल ये कि आकांक्षा का वो दोस्त कौन है? और इससे भी जरूरी कि पुलिस उसका पता लगाकर पूछताछ अब तक क्यों नहीं कर पाई है? जबकि आकांक्षा की कॉल डिटेल्स निकाली जा चुकी हैं।
7. उदयन ने रायपुर में माता-पिता की बॉडी दफनाने के लिए 8-10 फीट गहरा गड्ढा कराया या खुद किया। यहां सवाल ये कि पड़ोसियों ने इसके बारे में उदयन से कोई सवाल नहीं किया? क्या उन्हें कोई शक नहीं हुआ?
8. उदयन ने रायपुर वाला मकान बेचने के लिए एक शख्स को 30 लाख रुपए में पॉवर ऑफ अटॉर्नी दी। उस शख्स का बैकग्राउंड क्या है? उसने पावर ऑफ अटॉर्नी क्यों ली?
9. उदयन ने रायपुर का मकान बेचने के लिए मां का डेथ सर्टिफिकेट होशंगाबाद से बनवाया (ये उसने पुलिस को बताया है)। सवाल ये कि सर्टिफिकेट बनवाने के लिए श्मशान घाट की रसीद लगती है। क्या जाली रसीद का इस्तेमाल किया गया? या फिर बिना रसीद के ही किसी और तरीके से सर्टिफिकेट हासिल किया गया?
10. उदयन को उसके घर पर पुलिस के आने की इन्फॉर्मेशन पहले से कैसे मिल गई थी? पुलिस के आने की इन्फॉर्मेशन मिलने के बाद ही उदयन ने खुद को कमरे में बंद कर लिया था। कहा जा रहा है कि उसने फंदा बनाकर फांसी लगाने की तैयारी भी कर ली थी। ये उसने खुद पुलिस को बताया है।

Share With:
Rate This Article