पढ़ें, MCD चुनावों के लिए योगेंद्र यादव की पार्टी का क्या है प्लान

दिल्ली के तमाम राजनीतिक दलों की नजर अप्रैल में होने वाले नगर निगम चुनाव पर टिकी हैं. अब तक यहां बीजेपी और कांग्रेस के बीच सीधी होती थी लेकिन इस बार चुनावी मैदान में सत्ताधारी आम आदमी पार्टी और स्वराज इण्डिया पहली बार 272 सीटों पर अपनी किस्मत आजमाते नजर आएंगे. फिलहाल सबको पीछे छोड़ते हुए स्वराज इण्डिया ने बाजी मार ली है और उम्मीदवारों के चयन के लिए नामांकन प्रक्रिया शुरू कर दी है.

स्वराज इण्डिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने दावा किया है कि 272 सीटों के लिए उम्मीदवारों को जनता के बीच से ही चुना जाएगा. इसके लिए स्वराज इण्डिया का सदस्य होना जरूरी नहीं होगा , कोई भी आम नागरिक नगर निगम चुनाव के लिए उम्मीदवार बन सकता है. हालांकि नामांकन फार्म भरने वाले हर उम्मीदवार को 3 तरह की जांच से गुजरना होगा.

1. स्क्रीनिंग कमेटी, जिसके तहत इलाके के लोग उम्मीदवार के बारे में पड़ताल करेंगे. उम्मीदवार की छवि और जनता के बीच उसकी पकड़ की जांच ये कमेटी करेगी.

2. सेलेक्शन कमेटी, इस कमेटी का अध्यक्ष अजीत झा को बनाया गया है, जो उम्मीदवारों का चयन फाइनल करेगी. स्क्रीनिंग कमेटी से मंजूरी मिलने के बाद उम्मीदवारों को इस प्रक्रिया के तहत गुजरना होगा.

3. इंटिग्रिटी कमेटी, इस कमेटी के तहत उम्मीदवार का नाम फाइनल होने के बाद स्वराज इण्डिया को अगर जनता से शिकायत मिलती है और मामला सही भी पाया जाता है तो उम्मीदवार की दावेदारी को रद्द किया जा सकता है.

स्वराज इण्डिया ने अंजलि भारद्वाज को इंटिग्रिटी कमेटी का अध्यक्ष बनाया है जिसमें 6 सदस्य होंगे. अगर ये कमेटी किसी उम्मीदवार का नाम खारिज कर देती है तो कमेटी का फैसला नहीं बदला जाएगा. इसके अलावा नामांकन फार्म को पार्टी की वेबसाइट और सोशल मीडिया पर भी शेयर किया जाएगा.

उम्मीदवारों की चयन प्रक्रिया को लेकर योगेंद्र यादव ने आम आदमी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी ने अपने यहां नामांकन प्रक्रिया को सही तरीके से लागू नहीं किया है. जब हम पार्टी में थे तो प्रोफेसर आनंद कुमार और मैंने ही ‘आप’ के लिए इस प्रक्रिया को बनाया था, लेकिन अब फाइनल चेक इंटरनल लोगों के हाथ में होता है जो गलत है.

युवाओं को देंगे प्राथमिकता
स्वराज इण्डिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने आरोप लगाया कि कुछ पार्टियां में गिरोह सा बन गया है, जो अपने लोगों को टिकट देने का काम करती हैं. इसलिए हमारी पार्टी, महिला नेतृत्व को ढूंढने के लिए सर्च कमेटी बनाने के अलावा युवाओं को ज्यादा से ज्यादा टिकट देने की कोशिश करेगी. यादव का कहना है कि नामांकन फॉर्म जल्द ही वेबसाइट पर अपलोड किया जाएगा . इसके बाद नामांकन स्वीकार करने की प्रक्रिया शुरु हो जायेगी. नामांकन की प्रक्रिया के लिए फिलहाल कोई डेडलाइन नहीं है क्योंकि चुनाव आयोग ने सीट पर आरक्षण का ऐलान अभी तक नहीं किया है.

आपको बता दें कि हाल ही में स्वराज इण्डिया ने दिल्ली नगर निगम की 272 सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला किया था. योगेंद्र यादव के अलावा प्रशांत भूषण, अजीत झा और आनंद कुमार इस पार्टी के प्रमुख नेता हैं. आम आदमी पार्टी से अलग होने के बाद इन नेताओं ने स्वराज इण्डिया नाम से पार्टी बनाई थीं. फिलहाल स्वराज इण्डिया ने 12 फरवरी को दिल्ली के रामलीला मैदान में आम आदमी पार्टी सरकार के खिलाफ ‘जवाब दो हिसाब दो’ के बहाने नगर निगम चुनाव के लिए शक्ति प्रदर्शन करने का फैसला किया है.

Share With:
Rate This Article