इमिग्रेशन बैन को लेकर ट्रम्प के खिलाफ यूरोप-US में प्रदर्शन

न्यूयॉर्क

डोनाल्ड ट्रम्प के इमिग्रेशन बैन को लेकर लोगों का गुस्सा थम नहीं रहा है। अमेरिका के न्यूयॉर्क, वॉशिंगटन समेत कई शहरों से यूरोप के लंदन, पेरिस तक ट्रम्प के खिलाफ प्रदर्शन हुए। लोगों में इस बात को लेकर भी नाराजगी थी कि ट्रम्प ने एक फेडरल जज को क्यों सस्पेंड क्यों किया। ट्रम्प ने 27 जनवरी को 7 मुस्लिम देशों के लोगों की यूएस में एंट्री को लेकर ऑर्डर पास किया था। तीखे विरोध के चलते सिएटल की फेडरल कोर्ट ने शुक्रवार को ऑर्डर पर तुरंत रोक लगाने को कहा था। ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन ने ऑर्डर तो वापस ले लिया है लेकिन इसको लेकर अपर कोर्ट में अपील भी की है।

लंदन में सबसे बड़ा प्रोटेस्ट
– ट्रम्प के खिलाफ सबसे बड़ा प्रदर्शन ब्रिटेन की राजधानी लंदन में हुआ। यहां 10 हजार लोग जमा हुए।
– ये लोग ब्रिटिश पीएम थेरेसा मे के ट्रम्प के सपोर्ट करने से नाराज थे।
– लोग नारे लगा रहे थे- “थेरेसा मे, आपको शर्म आनी चाहिए।”
– लोगों के पोस्टर्स में लिखा हुआ था- “मुस्लिमों को बलि का बकरा नहीं बनाया जा सकता।”
– “सोशियलिज्म, ट्रम्पिज्म नहीं है।”
– प्रदर्शनकारियों ने 10, डाउनिंग स्ट्रीट (ब्रिटिश पीएम के घर) से अमेरिकी एम्बेसी तक रैली निकाली।
– यही नहीं, ब्रिटेन में 18 लाख लोगों ने एक पिटीशन पर साइन किए।
– इसके मुताबिक, ट्रम्प को ब्रिटेन की विजिट पर नहीं आना चाहिए क्योंकि ये क्वीन एलिजाबेथ II का अपमान होगा।

पेरिस-बर्लिन में भी सड़कों पर उतरे लोग
– पेरिस-बर्लिन में भी लोग ट्रम्प का विरोध करते नजर आए।
– पेरिस रैली के को-ऑर्गनाइजर 20 साल के अमेरिकी माइकल जैकब्स ने कहा, “हम यहां इसलिए इकट्ठे हुए हैं क्योंकि हम किसी से नफरत नहीं करते।”
– यहां लोगों ने नारे लगाए- ‘रिफ्यूजीज, आपका स्वागत है।’

यूएस फेडरल जज को किया था सस्पेंड
– शुक्रवार को ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन ने एक फेडरल जज को सस्पेंड कर दिया था।
– वहीं, न्यूयॉर्क में ट्रम्प के विरोध में 3 हजार लोग जुटे। बता दें न्यूयॉर्क, ट्रम्प का होमटाउन है।
– यहां डेमोक्रेट्स के सीनेट में माइनॉरिटी लीडर चार्ल्स शूमर ने प्रोटेस्टर्स को लीड किया। लोगों ने ‘डम्प ट्रम्प’ के नारे लगाए।
– शिकागो, ह्यूस्टन, वॉशिंगटन समेत कई अमेरिकी शहरों में भी लोग ट्रम्प के खिलाफ लोग सड़कों पर उतरे।
– वॉशिंगटन में लोगों ने कहा, “डोनाल्ड, हम आपको डीसी (वॉशिंगटन, डीसी) में नहीं देख सकते।”

ट्रम्प ने लगाया था 7 मुस्लिम देशों के लोगों के इमिग्रेशन पर बैन
– ट्रम्प ने जिन 7 मुस्लिम देशों के लोगों के इमिग्रेशन पर बैन लगाया था, उनमें इराक, ईरान, लीबिया, सूडान, सीरिया, सोमालिया और यमन हैं। ये ऑर्डर 27 जनवरी को पास किया गया था।
– व्हाइट हाउस के चीफ ऑफ द स्टाफ रींस प्रीबस ने कहा था, “हमने इन 7 देशों को चुना तो इसकी एक खास वजह है।”
– “कांग्रेस और ओबामा एडमिनिस्ट्रेशन, दोनों ने इन 7 देशों की पहचान कर रखी थी कि वहां खतरनाक आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम दिया जा रहा है।”
– प्रीबस के मुताबिक, “अब आप कुछ अन्य ऐसे देशों की ओर भी इशारा कर सकते हैं जहां एक तरह की समस्याएं हैं, जैसे कि पाकिस्तान और कुछ अन्य देश।”
– “शायद हमें इसे और आगे ले जाने की जरूरत है। फिलहाल इन देशों में जाने और वहां से आने वाले लोगों की गंभीरता से जांच-पड़ताल की जाएगी।”

120 दिन तक अमेरिका नहीं आ सकेंगे रिफ्यूजी
– अफसरों ने कहा था, यूएस रिफ्यूजी एडमिशन्स प्रोग्राम को 120 दिन के लिए बंद कर दिया गया था। ये तभी शुरू किया जाएगा जब ट्रम्प कैबिनेट के मेंबर्स उसकी अच्छी तरह जांच कर लेंगे।
– ऑर्डर के मुताबिक, इराक, ईरान, सीरिया, सूडान, लीबिया, सोमालिया और यमन के लोग भी 90 दिन तक अमेरिका में एंट्री नहीं ले सकेंगे। उन्हें वीजा नहीं मिलेगा।

Share With:
Rate This Article