पाक ने फिर अलापा कश्मीर राग, सेना और पीएम नवाज ने उगला जहर

इस्लामाबाद
पाकिस्तान ने एक बार फिर कश्मीर राग अलापा है। इस बार पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ और वहां की सेना ने एक साथ भारत के खिलाफ आग उगली। नवाज ने बंटवारे का जिक्र छेड़ते हुए कश्मीर को भारत और पाकिस्तान विभाजन का अधूरा अजेंडा करार दिया। वहीं पाकिस्तानी सेना ने भी कश्मीर की जनता के साथ एकजुटता दिखाने के लिए एक विडियो और गीत को जारी किया। यह गाना पाक सेना की मीडिया विंग इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (ISPR) ने सोशल मीडिया पर जारी किया है। यह गीत पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) में मनाए जाने वाले ‘कश्मीर दिवस’ के मौके पर जारी किया गया। मालूम हो कि पाकिस्तान कश्मीर अजेंडे को हवा देने के लिए हर साल 5 फरवरी को ‘कश्मीर दिवस’ का आयोजन करता है।

पाकिस्तान के पीएम नवाज ने एक बार फिर कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने और इसमें तीसरे पक्ष की मध्यस्थता का रास्ता खोलने की कोशिश की है। शरीफ ने कहा कि कश्मीर विवाद का हल संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) के प्रस्ताव से ही मुमकिन हो सकती है।

नवाज ने कहा कि कश्मीर विवाद के हल के बिना क्षेत्र में शांति और विकास संभव नहीं है। उन्होंने कहा, ‘संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के कई प्रस्तावों की मदद से अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने कश्मीर के लोगों को आत्म निर्णय का अधिकार दिया हुआ है, लेकिन भारत ने पिछले 7 दशकों से कश्मीरियों को इस अधिकार से वंचित रखा हुआ है।’

नवाज ने भारत के खिलाफ जमकर जहर उगला। खुद को कश्मीरी आवाम का रहनुमा बताने के अंदाज में नवाज ने कहा कि कश्मीरियों के हक की लड़ाई में पाकिस्तान उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है। साथ ही, उन्होंने भारत पर कश्मीर में मानवाधिकारों का उल्लंघन करने का आरोप लगाया और वहां जनमत संग्रह कराने की मांग की।

नवाज ने आरोप लगाया कि घाटी में हुर्रियत के शीर्ष नेताओं के साथ ही करीब 12 हजार लोगों को पिछले 12 महीनों के दौरान गैरकानूनी रुप से कैद किया गया है। उधर, पाकिस्तानी सेना द्वारा कश्मीर पर जारी किए गए गीत का शीर्षक ‘संगबाज: पत्थर फेंकने वाले’ है। इसमें भारत को कश्मीर छोड़ देने के लिए कहा गया है। विडियो को देखकर लगता है कि इसके दृश्यों के फिल्मांकन के लिए कश्मीर के असली फुटेज का इस्तेमाल हुआ है।

पाकिस्तान किस तरह कश्मीर में हिंसा को बढ़ावा देता है, इसका नजारा भी शनिवार को देखने को मिला। पाक के वरिष्ठ राजनयिक सरताज अजीज ने एक कार्यक्रम के दौरान बोलते हुए मृत हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर आतंकवादी बुरहान वानी का भी जिक्र कर दिया। जुलाई 2016 में भारतीय सुरक्षा बलों के साथ हुए एक मुठभेड़ के दौरान बुरहान मारा गया था। अजीज ने बुरहान की मौत को कश्मीर के लिए ‘अहम मोड़’ बताया। अजीज ने कहा कि बुरहान की मौत के बाद घाटी में जो हिंसा भड़की, उसका नेतृत्व कश्मीर के स्थानीय युवक कर रहे थे।

उन्होंने आरोप लगाया कि भारत कश्मीर में जनसंख्या अनुपात को बदलने की कोशिश कर रहा है। उनके मुताबिक, कश्मीरी युवक घाटी में आबादी के स्वाभाविक वितरण के साथ छेड़छाड़ करने की भारत की कोशिश के खिलाफ खड़े हुए। अजीज ने ये बातें सालाना ‘कश्मीर एकजुटता दिवस’ के मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कहीं। उन्होंने दावा किया कि सुरक्षा बलों ने बुरहान की हत्या की और इसके बाद हुई हिंसा में कई मौतें हुईं।

Share With:
Rate This Article