घर लौटा नन्हा इफ्तिखार, पाकिस्तान ने कहा ‘शुक्रिया’

भारत की मदद से एक मां को उसका बच्चा मिल गया है. पांच साल का इफ़्तिखार अहमद 11 महीने पहले अपनी अम्मी से बिछड़ गया था. दरअसल, भारत प्रशासित कश्मीर में रहने वाले इफ्तिख़ार के पिता गुलज़ार अहमद तांतरे इफ्तिख़ार को पाकिस्तान से अपने साथ ले आए थे. भारत ने इफ्तिखार को भारत-पाक सीमा पर पाकिस्तानी अधिकारियों को सौंप दिया गया है.

घर लौटा नन्हा इफ्तिखार, पाकिस्तान ने कहा 'शुक्रिया'

इफ्तिख़ार की मां रोहिना कयानी ने इसे ‘चमत्कार’ बताया है. उन्होंने कहा, “मैं तो अपने बच्चे से मिलने की उम्मीद ही खो चुकी थी.” वे कहती हैं, “मैं पाकिस्तान सरकार की शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने मेरी मदद की.” कयानी पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में रहती हैं. जबकि उनके पति गुलज़ार अहमद तांतरे अब भारत प्रशासित कश्मीर में रह रहे हैं. मार्च 2016 में तांतरे को भारत की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. तब इफ्तिखार पर भारत और पाकिस्तान के बीच विवाद छिड़ गया.

घर लौटा बच्चा

दरअसल, गुलज़ार अहमद तांतरे गांदरबल के एक गांव में जन्मे और पले-बढ़े. गांदरबल भारत प्रशासित जम्मू-कश्मीर राज्य का एक ज़िला है. तांतरे कथित तौर पर 1990 में हथियार प्रशिक्षण के लिए पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर गए. उस समय भारत प्रशासित कश्मीर में चरमपंथ ज़ोरों पर था.
भारत प्रशासित कश्मीर लौटने पर तांतरे अपने साथ बेटे को ले आए. वहां पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया. रोहिना कयानी ने पति पर बच्चे को अगवा करने और भारत भाग जाने का आरोप लगाया. लेकिन तांतरे और उनका परिवार बच्चे के अपहरण से इनकार करता है.

Share With:
Rate This Article