अगर आप भी करते हैं HRTC की बसों में सफर, तो ये खबर जरूर पढ़ें

शिमला

हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसों में अब सामान ले जाना आसान हो जाएगा। एचआरटीसी ने फेसबुक के माध्यम से यात्रियों को जागरूक किया जा रहा है। यात्रियों से घरेलू सामान का भाड़ा अधिक वसूलने की शिकायतें मिलने के बाद निगम प्रबंधन ने यह किराया अब फेसबुक पर अपलोड कर दिया है ताकि किसी भी यात्री को शिकायत होने के चलते किराए के बारे में जानकारी मिल सके। इस किराए को सार्वजनिक करने के बाद अब एच.आर.टी.सी. की बसों में सामान ले जाना आसान हो जाएगा। निगम की बसों में कुर्सी, सिलाई मशीन, साइकिल, मेज, सेब की पेटी, टैलीविजन, कम्प्यूटर और वाशिंग मशीन जैसे घरेलू उपयोग के सामान भी ले लाए जा सकेंगे।

कंडक्टरों की ओर से मनमाने दाम वसूलने की शिकायत
सामान ले जाने की एवज में कंडक्टरों की ओर से मनमाने दाम वसूलने की शिकायतों पर एच.आर.टी.सी. ने तय किराए को सार्वजनिक किया है। मौजूदा समय में एक शहर से दूसरे शहर तक यात्रियों द्वारा छोटा सामान ले जाने के लिए लोग निगम की बसों के कंडक्टरों से संपर्क करते थे। सामान ले जाने के एवज में चालक-परिचालक लोगों से मनमानी रकम वसूल किया करते थे। यात्रियों से मनमाना किराया वसूलने की शिकायतें मिलने के बाद प्रबंधन ने अब रेट लिस्ट जारी कर लोगों को तय रेट पर ही सामान ले जाने के लिए अपील की है। यदि बसों में तय किराए से ज्यादा वसूली की जाती है तो 94180-00529 और 98050-05529 पर यात्रियों द्वारा शिकायत की जा सकती है।

यह होगा किराया
बसों में साइकिल, कार्यालय मेज छोटी, पालतू जानवर, कुर्सी, पैडस्टर पंखा, सिलाई मशीन, चारपाई, टी.वी. व 20 किलो की सब्जियों के बक्से के लिए किराए का 25 प्रतिशत चुकाना होगा। इसी तरह सैंट्रल टेबल, प्लास्टिक कुर्सी, और फोल्डिंग कुर्सी के लिए किराए का 10 प्रतिशत, अलमारी और दीवान जैसे सामान के लिए एक यात्री बराबर किराया चुकाना होगा। इसके अलावा सोफा, टी.वी. फुलसाइज, वाशिंग मशीन, कम्प्यूटर और फल-सब्जियों के 40 किलो के बॉक्स के लिए किराए का 50 प्रतिशत चुकाना होगा। सेब की 20 किलो की एक पेटी यात्री के साथ मुफ्त, एक से ज्यादा पर किराए का 25 प्रतिशत यात्रियों को चुकाना होगा।

Share With:
Rate This Article