नागालैंड में हिंसा के बाद काबू में हालात, कोहिमा में सेना की 5 टुकड़ियां तैनात

कोहिमा

शहरी स्थानीय निकाय (यूएलबी) चुनाव में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण दिए जाने के खिलाफ नगालैंड की राजधानी कोहिमा में गुरुवार को शुरू हुआ प्रदर्शन अब हिंसक रूप ले चुका है.

प्रदर्शनकारियों ने कई सरकारी इमारतों में आग लगा दी, जिसके बाद अर्धसैनिक बलों की तैनाती करनी पड़ी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, प्रदर्शनकारियों ने नगालैंड के सीएम टीआर जेलिआंग के आवास पर भी हमला किया है. बीजेपी महासचिव राम माधव ने भी इसकी पुष्टि की है.

हालांकि नगालैंड के डीजीपी ने दावा किया है कि हालात अब नियंत्रण में हैं. डीजीपी ने भी कोहिमा में हिंसा की जानकारी दी है. सूत्रों के मुताबिक, इलाके में सेना की 5 टुकड़ियां तैनात की गई हैं. इधर, गुरुवार को हजारों लोगों ने सचिवालय, म्यूनिसिपल काउंसिल और जिला कमिश्नर के ऑफिस की तरफ मार्च किया.

मंगलवार को पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़पों में 2 युवकों की मौत हो गई थी और कई लोग घायल हो गए थे. प्रदर्शनकारियों ने मुख्यमंत्री टी.आर. जेलिआंग और उनके मंत्रियों के इस्तीफे तक दोनों का अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया है. जनजातीय संस्था यहां महिलाओं को चुनाव आरक्षण देने का विरोध कर रही है.

इधर, सरकार ने मोबाइल इंटरनेट सेवा ठप कर दी है और एक फरवरी को होने वाला चुनाव रद्द कर दिया. वहीं, जानकारी के मुाबिक, पुलिस गोलीबारी में मारे गए 2 युवकों को ‘नगा शहीद’ घोषित किया गया है. एनटीएसी ने गोलीबारी करने वाले पुलिसकर्मियों को तत्काल निलंबित किए जाने की मांग की है.

Share With:
Rate This Article