पश्चिमी उत्तर प्रदेश की स्थिति 1990 के कश्मीर जैसी: योगी आदित्यनाथ

गाजियाबाद

बीजेपी के फायरब्रैंड नेता योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कहा कि पश्चिमी यूपी में हालात 27 साल पुराने कश्मीर जैसे हैं. साहिबाबाद में एक रैली को संबोधित करते हुए योगी ने कहा, जब मैं पश्चिमी यूपी को देखता हूं, तो उसके सामाजिक ढांचे और जनसांख्यिकी देखकर मुझे पछतावा होता है.

उन्होंने कहा, जनवरी 19, 1990 को हिंदुओं को सामूहिक तौर पर कश्मीर से पलायन करना पड़ा था. वहां एक नरसंहार हुआ था, माताओं और बहनों के सम्मान को खुले तौर पर बेआबरू किया गया था. ऐसी ही स्थिति अगर हमने कहीं देखी है तो वह या तो बंगाल में है या पश्चिमी उत्तरप्रदेश (कैराना और कांधला) में.

उन्होंने कहा, क्या कैराना कोई मुद्दा नहीं है. क्या कश्मीर कोई मुद्दा नहीं है. अगर इस देश के बहुसंख्यक, हिंदुओं को टॉर्चर किया जाता है तो क्या यह मुद्दा नहीं है, लेकिन अगर अल्पसंख्यक समुदाय के पैर में कोई कांटा भी चुभ जाता है, तो वह एक मुद्दा बन जाता है.

योगी आदित्यनाथ ने कहा, मैं पश्चिमी यूपी को असुरक्षित मानता हूं. पूर्वी उत्तरप्रदेश में डर नहीं लगता, क्योंकि वहां हम वही भाषा इस्तेमाल करते हैं जो लोग समझते हैं और वह ठीक हो जाते हैं. इस रैली में उनके साथ गाजियाबाद से सांसद वीके सिंह भी मौजूद थे.

इस दौरान आदित्यनाथ अमेरिका के नए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की तारीफ भी करते नजर आए. उन्होंने कहा, ट्रंप ने अपने चुनावी कैंपेन के दौरान सिर्फ दो ही वैश्विक नेताओं का जिक्र दिया-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन.

योगी ने इस दौरान हिंदू युवा वाहिनी पर भी हमला बोला, जिसके अध्यक्ष सुनील सिंह ने ऐलान किया था कि वाहिनी बीजेपी के खिलाफ चुनाव लड़ेगी. पिछले शुक्रवार को सिंह ने कहा था कि वह 60 सीटों पर बीजेपी के खिलाफ अपने उम्मीदवार उतारेगी. उनका कहना था कि बीजेपी की तरफ से योगी को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार नहीं बनाया गया और उम्मीदवार चुनने में उनके सुझावों को दरकिनार किया गया.

Share With:
Rate This Article