नजरबंदी से बौखलाया आतंकी हाफिज सईद, कहा- मोदी-ट्रंप की दोस्‍ती के कारण हुई कार्रवाई

लाहौर

मुंबई आतंकी हमले के मास्टरमाइंड और जमात-उद-दावा चीफ आतंकी हाफिज सईद को लाहौर स्थित एक मस्जिद में नजरबंद किया गया है. इस कार्रवाई से आतंक का सरगना हाफिज सईद बौखला गया है और उसने इसके पीछे भारत का हाथ बताया है. हाफिज समेत 4 आतंकियों को पाकिस्तान में आतंकरोधी नियमों के तहत नजरबंद किया गया है.

नजरबंदी के बाद हाफिज सईद का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें वह कह रहा है कि पाकिस्तान सरकार ने बाहरी दबाव में उसे गिरफ्तार किया है. हाफिज ने कहा, ‘डोनाल्ड ट्रंप और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच नई-नई दोस्ती हुई है और मोदी के इशारे पर अमेरिकी दबाव में हमें नजरबंद करके रखा गया है’.

हाफिज ने कहा कि उसकी अमेरिका से कोई दुश्मनी नहीं है, वो तो कश्मीर मसले को लेकर संघर्ष कर रहा है और आगे करता रहेगा. उसने कहा कि पाकिस्तान की जनता उसके साथ है और उसने कभी कोई हिंसक कदम नहीं उठाया है, केवल कश्मीर मसले को लेकर भारतीय दबाव में उसे नजरबंद किया गया है.

गौरतलब है कि डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिकी राष्ट्रपति बनते ही आतंकवाद को पनाह देने वाले देशों को सख्त संदेश दे दिया है कि अब उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. ट्रंप ने आतंक को पनाह देने वाले 7 देशों पर प्रतिबंध भी लगा दिया है. जिससे पाकिस्तान सरकार दबाव में आ गई है और आनन-फानन में हाफिज सईद को लाहौर में नजरबंद करके रखा है.

पीएम मोदी के साथ फोन पर पहली बातचीत में भी ट्रंप ने आतंकवाद के खिलाफ मिलकर लड़ने का संकल्प दोहराया था. ट्रंप ने पीएम मोदी से कहा था कि आतंकवाद के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में भारत और अमेरिका साथ हैं. ट्रंप ने भारत को सच्चा दोस्त और साझेदार बताया था. दूसरी ओर आतंकवाद को पनाह देने वाले पाकिस्तान पर बैन के व्हाइट हाउस ने संकेत दिए थे.

Share With:
Rate This Article