अब टाइटल बदलने पर अड़ी करणी सेना, भंसाली ने कहा, ‘फिल्म में पद्मावती-खिलजी के रोमांटिक सीन नहीं”

संजय लीला भंसाली की टीम और करणी सेना के बीच बातचीत हुई है. ऐसा बताया गया है कि बातचीत के बाद पद्मावति को लेकर करणी सेना की गलतफहमी दूर हो गई है. भंसाली प्रॉडक्शन ने इंडिया टुडे आज तक से बातचीत में कहा है कि अब फिल्म को लेकर कोई विवाद नहीं है. करणी सेना भी इस मामले में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सकती है. इस बीच खबर है कि करणी सेना की ओर से फिल्म का नाम पद्मावती के नाम पर न रखने की मांग की गई है और भंसाली इसके लिए राजी भी हो गए हैं.

पद्मावती-खिलजी के बीच रोमांटिक सीन नहीं
भंसाली के प्रोडक्शन हाउस की ओर से जारी लेटर में कहा गया है कि फिल्म में पद्मावती-खिलजी के कैरेक्टर के बीच कोई रोमांटिक सीन नहीं शूट किया जाएगा. न ही सपने में इन्हें ऐसे किसी हालात में दिखाया जाएगा. हम बहुत ही रिसर्च के साथ इस फिल्म को बना रहे हैं, उम्मीद है कि मेवाड़ को इस पर गर्व होगा.

अब टाइटल बदलने पर अड़ी करणी सेना, भंसाली ने कहा, 'फिल्म में पद्मावती-खिलजी के रोमांटिक सीन नहीं'.
करणी सेना ने की थी मारपीट
फिल्म ‘पद्मावती’ में ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ के आरोप में करणी सेना ने फिल्म के सेट पर जमकर उत्पात मचाया था. सेना के कार्यकर्ताओं ने निर्देशक संजय लीला भंसाली के साथ अभद्रता भी की थी. फिल्म की शूटिंग जयपुर के जयगढ़ फोर्ट में चल रही थी. तभी शुक्रवार दोपहर को करणी सेना के कार्यकर्ता फिल्म के सेट पर पहुंचे और विरोध-प्रदर्शन करने लगे. देखते ही देखते उनका विरोध उग्र हो गया और उन्होंने वहां मौजूद शूटिंग उपकरणों को उठाकर फेंकना शुरू कर दिया. उन्हें जब रोकने की कोशिश की गई तो वो मारपीट पर उतर आए.

Share With:
Rate This Article