माछिल सेक्टर में हिमस्खलन से बचाए गए पांचों सौनिक शहीद

श्रीनगर

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा के माछिल सेक्टर में शनिवार को हिमस्‍खलन के बाद बचाए गए 5 जवानों का सोमवार को निधन हो गया. पांचों जवानों को राहत और बचाव कार्य के बाद बर्फ से जीवित निकालने में कामयाबी मिली थी और उन्‍हें डॉक्‍टरों की निगरानी में रखा गया था लेकिन उन्‍हें बचाया नहीं जा सका. गौरतलब है कि सेना की पोस्ट हिमस्खलन की ज़द में आ गई थी जिसके बाद पांच सैनिक बर्फ में दब गए थे. इन 5 सैनिकों की मौत के साथ ही कश्मीर में हिमस्खलन की घटनाओं में मरने वाले सैन्यकर्मियों की संख्या बढ़कर 20 हो गयी. सेना के एक अधिकारी ने बताया कि खराब मौसम का सामना करते हुए सेना के पायलट सोमवार को पांचों घायल सैनिकों को विशेष इलाज के लिए हवाई मार्ग से माछिल से श्रीनगर ले गए. उन्होंने कहा, ‘बदकिस्मती से सभी पांचों जांबाज वीरगति को प्राप्त हो गए.’

इस बीच पिछले हफ्ते उत्तरी कश्मीर के गुरेज सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास हिमस्खलन में मारे गए 14 सैनिकों के शव भी श्रीनगर लाए गए ताकि उन्हें अंतिम संस्कार के लिए उनके पैतृक स्थानों पर भेजा जा सके.

रक्षा प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने कहा कि खराब मौसम के कारण 14 सैनिकों के शवों को ले जाने के सेना के प्रयास बाधित हुए. ये सैनिक गत 25 जनवरी को हिमस्खलन के कारण बांदीपोरा के गुरेज सेक्टर में मारे गए थे. उन्होंने कहा कि सेना के पायलटों ने उत्तरी कश्मीर के गुरेज एवं माछिल पहुंचने के लिए पिछले हफ्ते कई बार कोशिशें कीं और आखिरकार बचाए गए सैनिकों को बाहर निकालने एवं मृत सैनिकों के शव यहां लाने में सफल रहे. पिछले छह दिन में कश्मीर में हिमस्खलनों में एक अधिकारी सहित 20 सैनिक मारे गए और घाटी में इसी तरह की घटनाओं में पांच आम नागरिकों की भी मौत हो गयी.

Share With:
Rate This Article