यूपी बीजेपी ने जारी किया घोषणा पत्र, मुख्य मुद्दों में राम मंदिर और तीन तलाक

लखनऊ

बीजेपी का घोषणापत्र जारी करते हुए पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को राम मंदिर और ट्रिपल तलाक जैसे संवेदनशील मुद्दों को भी उठाया. शाह ने यूपी में दो-तिहाई बहुमत से बीजेपी सरकार बनने का दावा करते हुए कहा कि हम ट्रिपल तलाक के मुद्दों पर मुस्लिम महिलाओं की राय लेंगे और इसके बाद सुप्रीम कोर्ट में उनके पक्ष में पैरवी की जाएगी.

राम मंदिर को लेकर उन्होंने कहा, ‘यह मुद्दा 2014 में आम चुनाव के घोषणापत्र में भी शामिल था. हम संवैधानिक तरीके से राम मंदिर के निर्माण के लिए हरसंभव प्रयास करेंगे.’

पत्रकारों की ओर से राम मंदिर और विकास के मुद्दे को लेकर पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘राम मंदिर और विकास में किसी तरह का विरोधाभास नहीं है, दोनों काम एक साथ हो सकते हैं.’

इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुए अमित शाह ने कांग्रेस के वंशवाद पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि यदि राहुल गांधी की शादी हो जाती है और उनका बच्चा होता है तो वही पार्टी का प्रेजिडेंट होगा. शाह ने कहा, ‘हमने सूबे में मिस्ड कॉल और पत्रों के जरिए सूबे के 30 लाख से ज्यादा लोगों का फीडबैक लिया है. अब तक 5,000 जनसभाएं की गई हैं.’

शाह ने कहा, ‘यूपी बीमारू राज्य बना हुआ है. बीजेपी की सत्ता के अंतर्गत मध्य प्रदेश और राजस्थान जैसे राज्य इस स्थिति से बाहर निकल चुके हैं.’

अमित शाह ने सूबे के विकास के लिए तमाम योजनाओं को गिनाते हुए छात्राओं के लिए ग्रेजुएशन तक मुफ्त एजुकेशन और छात्रों के लिए 12वीं क्लास तक फ्री शिक्षा और 24 घंटे तक निर्बाध बिजली आपूर्ति का ऐलान किया. अमित शाह ने समाजवादी पार्टी और बीएसपी पर पिछले 15 सालों में प्रदेश के विकास को पीछे धकेलने का आरोप लगाया.

Share With:
Rate This Article