पढ़ें, पाक महिला विधायक ने सदन में ऐसा क्या कहा जिससे सब रह गए हैरान

कराची

पाकिस्तान में महिला विधायक के साथ सदन में दुर्व्यवहार का मामला सामने आया है। सिंध प्रांत के कार्य एवं सेवा मंत्री इमदाद पताफी ने विधानसभा में नुसरत सहर ब्बासी पर भद्दी टिप्पणियां करते हुए उनके सामने अपमानजनक प्रस्ताव रखा। मीडिया में मामले के तूल पकड़ने और पीड़िता की आत्मदाह की धमकी के बाद मंत्री ने माफी मांगकर मामले को रफादफा ।  घटना से कट्टरपंथी पाकिस्तान में महिलाओं की दयनीय स्थिति का सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है।

सिंध में पाकिस्तान की दिवंगत प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो की पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) की सरकार है। पीड़िता विपक्षी दल मुस्लिम लीग फंक्शनल पार्टी की सदस्य हैं। घटना पिछले सप्ताह की है। एक सवाल का जवाब देते पताफी ने कहा कि यदि नुसरत उनके निजी चेंबर में आ जाएं तो वे संतोषजनक जवाब दे देंगे। जिस समय यह घटना हुई उस समय उपाध्यक्ष सदन का संचालन कर रहे थे। उन्होंने नुसरत की शिकायत पर गौर नहीं किया। इतना ही नहीं कैमरे में सत्ताधारी दल का एक और सदस्य महिला विधायकों के लिए ओछी बातें करते कैमरे में कैद हो गया।

बदसलूकी से दुखी नुसरत सोमवार को पेट्रोल की बोतल लेकर सदन में पहुंचीं। उन्होंने पताफी की बर्खास्तगी की मांग करते हुए कहा कि यदि ऐसा नहीं किया गया तो वह खुद को जला लेंगी। सोशल मीडिया और टीवी चैनलों पर मामले के छाने के बाद पीपीपी अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी और उनकी बहन बख्तावर जरदारी को भी मामले में दखल देना पड़ा। दबाव में पताफी ने पारंपरिक दुपट्टा ओढ़ा कर नुसरत से माफी मांगी। पाकिस्तान की परंपरा में महिला को दुपट्टा ओढ़ाना सम्मान का प्रतीक होता है।

नुसरत ने बुधवार को सदन की अध्यक्ष शहला रजा के सामने एक बार फिर यह मामला उठाया। उन्होंने कहा कि मेरे साथ जो कुछ हुआ वह मामला अब खत्म हो चुका है। इससे पहले भी सिंध विधानसभा और नेशनल असेंबली में महिला सदस्यों के साथ इस तरह का व्यवहार हो चुका है। यह बताता है कि पाकिस्तान में महिलाओं की सुरक्षा के लिए बने कानूनों को प्रभावी तौर पर लागू नहीं किया जाता है। उन्होंने सरकार से महिलाओं को अधिकार और सुरक्षा प्रदान करने वाले कानूनों की तत्काल समीक्षा की मांग की।

Share With:
Rate This Article