आरक्षण की आड़ में किसी को भी कानून तोड़ने की इजाजत नहीं: DGP

चंडीगढ़

पुलिस महानिदेशक डॉ. केपी. सिंह ने हरियाणा पुलिस कर्मचारियों को मुस्तैद करने और  उनका मनोबल बढ़ाने के लिए हरियाणा भ्रमण शुरू कर दिया है। वहीं हरियाणा में पुन: जाट आंदोलन की आहट से सभी पुलिस कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं। डी.जी.पी. ने फोर्स को हरियाणा के कई जिलों में सम्बोधित करते हुए कहा कि वे लोगों के बीच जाकर साकारात्मक तरीके से भाईचारा कायम करें और पुलिस का हर जवान सेवा-सुरक्षा-सहयोग को अमल में लाएगा।

उन्होंने कहा कि आरक्षण की आड़ में किसी को भी कानून तोडऩे की इजाजत नहीं है। सामाजिक सौहार्द बनाने के लिए बातचीत का ही सहारा लें, साथ ही उन्होंने कहा कि असामाजिक तत्वों को रोकने के लिए यदि बल का भी प्रयोग करना पड़े तो वह भी करें। उन्होंने कहा कि आंदोलन के समय गैर-हाजिर होना कायरता है इसलिए किसी भी मुलाजिम पर कायरता का कलंक न लगे, इसके लिए अहतियात बरतनी होगी और विपरीत परिस्थितियों में ड्यूटी देने के लिए हर समय तैयार होना होगा। इस मौके पर उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग ने अपने कर्मियों के लिए कई अहम फैसले लिए हैं। इस मौके पर उन्होंने मुलाजिमों से उनकी समस्याएं सुनीं तथा उनका समाधान करवाया और उनसे सुझाव भी लिए।

Share With:
Rate This Article