एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर बोले- ‘अभी मैंने नहीं जॉइन की है BJP

दिल्ली

कांग्रेस के दिग्गज नेता एनडी तिवारी की उनकी बेटे रोहित शेखर तिवारी के साथ बीजेपी मुखिया अमित शाह से मुलाकात हुई. मुलाकात पर कई बातें हुई, खबरें बनी, सोशल मीडिया में कई तंज कसे गए और फिर रविवार रात बीजेपी ने उत्तराखंड की बची हुई सीटों पर भी कैंडिडेट का ऐलान कर दिया. इस लिस्ट में रोहित का नाम नहीं था. हालांकि, अब रोहित कह रहे हैं कि मैं इसी साल सत्ता में तो आऊंगा, भले ही कैसे भी.

रोहित ने बताया कि किस तरह उनकी बात अमित शाह से मुलाकात तक पहुंची. रोहित ने बताया कि मैंने 18 अक्टूबर को बीजेपी नेता और सांसद भगत सिंह कोश्यारी से अपने दिल का हाल कहा था. उनको बताया कि कांग्रेस ने मुझे और पिताजी को बहुत बेइज्जत किया है. किसा कार्यक्रम में पिताजी को बुलाते तक नहीं. तब कोश्यारी से कहा था कि अगर बीजेपी में मेरे माता—पिता को सम्मान मिलता है तो मैं पार्टी में आ सकता हूं.

22 अक्टूबर को बीजेपी नेता अनिल बलूनी नारायण दत्त तिवारी से मिलने पहुंचे. तब बलूनी ने कहा कि हम बड़ी रैली कर आपको पार्टी में शामिल करेंगे और लालकुंआ सीट से टिकट देंगे. रोहित ने कहा कि हमने तबसे लालकुंआ सीट पर तैयारी भी शुरू कर दी थी. इसी बीच विजय बहुगुणा और बीजेपी उत्तराखंड अध्यक्ष अजय भट्ट से भी बात हुई और वह भी चाहते थे कि हम बीजेपी में आ जाएं. लेकिन दिसंबर का महीना भी गुजर गया तो हमें लगा कि अब बहुत देर हो रही है तो हमने यह संकेत दिए कि निर्दलीय चुनाव लड़ सकते हैं या फिर कोई और ठिकाना ढूंढ सकते हैं.

रोहित ने बताया कि 15 जनवरी को बीजेपी नेता श्याम जाजू का फोन आया और फिर अमित शाह से मुलाकात फिक्स हुई. लेकिन तब तक लालकुंआ से टिकट का ऐलान हो गया था. तब हमने कहा कि रामनगर या हल्द्वानी से भी चुनाव लड़ा जा सकता है. जब हमारी मुलाकात अमित शाह से हुई तो कुछ भी हमें स्पष्ट नहीं किया गया.

सारी बातें इशारों में हुई थीं और जिस तरह हमारा स्वागत किया तो हमें उम्मीद थी कि कोई बड़ी जिम्मेदारी दी जाएगी लेकिन उसके बाद बीजेपी की तरफ से न तो कोई बयान आया न ही हमें कुछ बताया गया. इसे लेकर पिताजी भी नाराज थे. हमने बीजेपी जॉइन नहीं की. अभी हम किसी पार्टी में नहीं है और हम कहीं भी जा सकते हैं. रोहित ने कहा ‘पिक्चर अभी बाकी है.’

Share With:
Rate This Article