इस खबर को पढ़कर आपके भी रौंगटे खड़े हो जाएंगे

लुधियाना में 9 साल के मासूम की हत्या की गुत्थी को पुलिस ने सुलझाने का दावा किया है. इस मामले में पुलिस ने पड़ोस में रहने वाले एक नाबालिग आरोपी को गिरफ्तार किया है. नाबालिग आरोपी ने मासूम की हत्या करने के बाद शव के सीने से दिल निकालकर शव के 6 टुकड़े कर एक खाली प्लॉट में फेंक दिया था.

मृतक मासूम का नाम दीपू था. 17 जनवरी को दीपू अपने घर से लापता हो गया था. पुलिस के मुताबिक, परिजन दीपू की तलाश में जुटे थे कि उन्हें पास ही के एक प्लॉट में दीपू का शव मिलने की सूचना मिली. दीपू के परिवार में कोहराम मच गया. परिजन जब प्लॉट पर पहुंचे तो दीपू के शव की हालत देख उनके रौंगटे खड़े हो गए.

दीपू की बेरहमी से हत्या कर उस मासूम के शव को 6 टुकड़ों में फेंका गया था. मासूम की इतनी बर्बरतापूर्वक हुई हत्या से इलाके में सनसनी फैल गई. पुलिस ने मौके पर पहुंच शव को कब्जे में लिया. अब पुलिस के लिए यह केस एक चुनौती बन गया था. पुलिस मामले की जांच कर ही रही थी उसे एक सुराग मिला और फिर इस जघन्य हत्याकांड का खुलासा हो गया.

फिरौती की नीयत से किया था मासूम का अपहरण
पुलिस ने पड़ोस में रहने वाले 16 साल के विकेश कुमार को गिरफ्तार किया. यूपी के उन्नाव के रहने वाले विकेश ने पुलिस के सामने जो राज खोले उसे सुनकर पुलिस के आला अधिकारी हक्के-बक्के रह गए. दरअसल विकेश ने फिरौती की नीयत से दीपू का अपहरण किया था. मामले को बढ़ता देख पकड़े जाने के डर से उसने दीपू की बेरहमी से हत्या कर दी.

सीने से दिल निकालकर शव के किए थे 6 टुकड़े
नाबालिग आरोपी विकेश ने पुलिस को बताया कि दीपू की हत्या करने के बाद उसने शव के 6 टुकड़े किए और इलाके के एक खाली प्लॉट में फेंककर वहां से फरार हो गया. इतना ही नहीं, उसने इसके बाद जो किया वह और भी ज्यादा दिल दहलाने वाला था. विकेश ने मासूम दीपू के शरीर से उसका दिल निकाल लिया था और उसने वह दिल अपने स्कूल के आंगन में फेंक दिया.

स्कूल के आंगन में फेंक दिया मासूम का दिल
विकेश ने पुलिस को बताया कि उसे स्कूल जाना पसंद नहीं है और वह अपने स्कूल से नफरत करता है. स्कूल की बदनामी करवाने के लिए ही उसने दीपू का दिल स्कूल के आंगन में फेंका था ताकि स्कूल बंद हो जाए. नाबालिग के मुंह से हत्या का बेहद खौफनाक कबूलनामा सुनकर पुलिस अधिकारी भी दंग रह गए. फिलहाल पुलिस ने विकेश को गिरफ्तार कर लिया है.

मृतक मासूम के माता-पिता हैं दिहाड़ी मजदूर
गौरतलब है कि मृतक मासूम के माता-पिता और आरोपी का परिवार यूपी के उन्नाव का ही रहने वाला है. मृतक के माता-पिता दिहाड़ी मजदूर हैं. वहीं मासूम की हत्या के बाद जिस तरह से एक नाबालिग ने शव के टुकड़े कर वारदात को अंजाम दिया, उससे इलाके के लोग काफी सहमे हुए हैं. दीपू के परिवार ने नाबालिग आरोपी को कड़ी से कड़ी सजा दिए जाने की मांग की है.

Share With:
Rate This Article