पुराने बस अड्डे पर बस न रोकना ड्राइवरों को पड़ा महंगा

समालखा के पुराने बस अड्डे पर रोडवेज विभाग के ड्राइवरों की ओर से बसें न रुकने के मामले में प्रशासन, नगर पालिका और रोडवेज विभाग सख्त हो गया, पुराने बस अड्डे पर करीब 6 बस ड्राइवरों को पकड़ा औप  उनके खिलाफ कार्रवाई करवाने के लिए रोडवेज विभाग के कर्मचारियों ने अपने उच्चाधिकारियों को शिकायत की।

ड्राइवरों को कैसे पकड़ा

बस ड्राइवरों की ओर से पुराने बस अड्डे पर बसें न रोकने के मामले में रोडवेज विभाग और प्रशासन की अनदेखी की जा रही थी कि जब इस खबर को उठाया गया तो रोडवेज विभाग पुलिस और नगर पालिका चेयरमैन सख्त हुआ और बस ड्राइवरों पर नजर रखी। सुबह ही कर्मचारियों ने हरियाणा राज्य परिवहन दिल्ली डिपो की एक बस को पकड़ा जो कि यहां पर पुराने बस अड्डे से पहले ही सवारियों को उतार रहा था जिससे आगे खड़े रोडवेज कर्मचारियों ने पकड़कर भविष्य में यहां पर बसें न रोकने की चेतावनी दी व उसका नंबर उच्चाधिकारियों को आगामी कार्रवाई के लिए भेजा गया।

रोडवेज विभाग का स्टिंग ऑपरेशन करीब 2-3 घंटे तक चलता रहा जो कि बस यहां रोडवेज विभाग और प्रशासन के आदेशों की धज्जियां उड़ा रहे थे। इसी कार्रवाई में पुलिस भी पुराने बस अड्डे पर मुस्तैद रही व सवारियों को पुराने बस अड्डे की बजाय नए अड्डे पर भेज दी जो कि पुराना बस अड्डे से अवैध रूप से सवारियों को भरकर रोडवेज विभाग का हजारों रुपए प्रतिदिन का चूना लगा रहे थे। उनके खिलाफ कार्रवाई की उनके चालान भी किए। इस मामले में चेयरमैन अशोक कुच्छल ने भी नए बस अड्डे पर जाकर कई छात्रों को नए बस अड्डे से ही बसें पकडऩे की अपील की व किसी भी तरह अव्यवस्था न फैलने देने की भी बात कही।

Share With:
Rate This Article