अब धर्मशाला होगी हिमाचल प्रदेश की दूसरी राजधानी, सीएम वीरभद्र ने की घोषणा

धर्मशाला

हिमाचल प्रदेश के सीएम वीरभद्र सिंह ने प्रदेश की राजधानी को लेकर ऐतिहासिक घोषणा की है. सीएम ने धर्मशाला को राज्य की दूसरी राजधानी का दर्जा दिया है.

अब प्रदेश में शिमला के साथ-साथ नगर निगम और स्मार्ट सिटी में चयनित धर्मशाला को भी दूसरी राजधानी के नाम से जाना जाएगा. मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने कहा कि धर्मशाला का अपना अलग महत्व और इतिहास है और यह प्रदेश की दूसरी राजधानी बनने के लिए उपयुक्त है.

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश के निचले क्षेत्रों (कांगड़ा, चंबा, हमीरपुर और ऊना) के लिए धर्मशाला का विशेष महत्त्व है. इन क्षेत्रों के लोग इस विशेष दर्जे से लाभान्वित होंगे और उन्हें अपने कार्यों के लिए शिमला तक लंबा सफर तय नहीं करना पड़ेगा.

धर्मशाला न केवल भारत बल्कि विश्व में धार्मिक, प्राकृतिक तथा साहसिक पर्यटन सहित अनेक कारणों से प्रसिद्ध है. उन्होंने कहा कि धर्मशाला धर्मगुरु दलाई लामा का निवास स्थान भी है और विश्वभर से लोग यहां आते हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि दिसंबर 2005 में शिमला से बाहर हिमाचल प्रदेश विधानसभा का पूर्ण शीतकालीन सत्र आयोजित किया गया था. तपोवन में पहले ही विधानसभा भवन कार्य कर रहा है, जिसकी आधारशिला उन्होंने अपने पूर्व शासनकाल के दौरान वर्ष 2006 में रखी थी.

Share With:
Rate This Article