एटा हादसे में 13 मासूमों समेत 15 की मौत

एटा

उत्तर प्रदेश के एटा में गुरुवार को भीषण सड़क हादसा हुआ. स्कूल बस और ट्रक की टक्कर में 13 बच्चों समेत 14 लोगों की मौत हो गई. इस हादसे में 24 बच्चे घायल भी हैं. बस में 50 से ज्यादा बच्चे सवार थे. एटा के डीएम ने मामले में केस दर्ज करने का आदेश दिया है.

कोहरे के कारण हादसा
हादसा एटा के अलीगंज रोड पर हुआ. सुबह स्कूल बस ट्रक से टकरा गई. यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर दलजीत सिंह ने इससे पहले 25 बच्चों की मौत की बात कही थी. बताया जा रहा है कि बस और ट्रक की आमने सामने की टक्कर में ऐसा हुआ. सभी बच्चे जेएस पब्लिक स्कूल के थे. हादसे का कारण कोहरा बताया जा रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एटा हादसे पर दुख जताया है. यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सभी घायल बच्चों के मुफ्त उपचार के निर्देश दिए हैं. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी घटना पर दुख जताया है.

एटा हादसा
प्रशासन के आदेश के बावजूद खुला रखा गया था स्कूल
ठंड की वजह से डीएम ने स्कूल बंद रखने का आदेश दिया था. हालांकि, इसके बाद भी स्कूल खुला रखा गया. एटा के डीएम मोहन सिंह ने आजतक से कहा- ठंड के कारण स्कूलों को 20 जनवरी तक बंद रखने का आदेश किया गया है। स्कूल प्रबंधन के खिलाफ कार्रवाई होगी।

पीएम ने दुख जताया
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूपी के एटा में हुए हादसे पर दुख जताया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि वह बच्चों के परिवार वालों के दुख में शामिल हैं.

पीएम का ट्वीट

क्यों हुआ हादसा?
बताया जा रहा है कि कोहरे के कारण स्कूल बस के ड्राइवर को ट्रक नहीं दिखी. एडीजी लॉ एंड ऑर्डर दलजीत सिंह चौधरी ने कहा लो-विजिबिलिटी के चलते ये हादसा हुआ है.

20 जनवरी तक स्कूलों को बंद रखने का है आदेश

यूपी इस समय शीतलहर का दौर जारी है. अलग-अलग जगहों पर ठंड से अब तक 28 लोगों की जान जा चुकी है. गुरूवार को एक बार फिर लखनऊ, लखीमपुर समेत कई जिलों में आठवीं क्लास तक के लिए स्कूलों को बंद कर दिया गया. अब स्कूल 20 तारीख तक बंद रहेंगें. लखनऊ में डीएम ने इससे पहले 17 तारीख को स्कूल खोलने का का निर्देश दिया था लेकिन मौसम ठीक हुआ तो स्कूलों पर 13 जनवरी को ही खोल दिया गया. लेकिन अचानक ठंड बढने के कारण स्कूलों को फिर से बंद कर दिया गया है. मौसम विभाग का कहना है कि ठंड का प्रकोप अभी कुछ दिनों तक रहेगा और कोहरे से भी अभी राहत नहीं मिलेगी.

Share With:
Rate This Article