लोकेश राहुल ने कहा, ‘हम विराट कोहली से सीखते हैं’

विराट कोहली ने 2016 में जिस प्रकार टीम इंडिया का नेतृत्व किया उससे उनके प्रशंसक ही नहीं बल्कि खुद उनकी टीम के साथी भी उनकी तारीफों के पुल बांधने के साथ ही उनकी नेतृत्व क्षमता को बेहद मजबूत बता रहे हैं. टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल ने कहा कि भारतीय कप्तान विराट कोहली ने अपनी ऊर्जा, जुनून और उदाहरण पेश करने के अपने जज्बे से महान कप्तान होने के संकेत पहले ही दे दिए हैं. राहुल ने इंग्लैंड के खिलाफ बाराबती स्टेडियम में इंग्लैंड के खिलाफ होने वाले दूसरे एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच की पूर्व संध्या पर अपने कप्तान की तारीफों के पुल बांधे. टीम इंडिया तीन मैचों की सीरीज में 1-0 से बढ़त बनाए है.

‘कोहली से सीखते हैं हम’
राहुल ने कहा, ‘यह दिखता है कि कोहली ने हमारे सामने कैसे उदाहरण पेश किए हैं. उसने कई बार टीम के लिए शानदार प्रदर्शन किया है. हम उनका अनुकरण करते हैं और देखते हैं कि वह अपनी पारी कैसे आगे बढ़ाता है. वह मैदान पर किस तरह की ऊर्जा, उत्साह और जुनून दिखाता है. इसका असर हम सभी पर पड़ता है. हम उससे काफी कुछ सीखते हैं.’

‘यह महान कप्तान का संकेत है’
उन्होंने कहा, ‘वह ऐसा खिलाड़ी है जो सिर्फ व्यक्तिगत तौर पर शानदार प्रदर्शन करने के बारे में नहीं सोचता बल्कि वह टीम को भी अपने साथ ले जाना चाहता है. वह हमें हमेशा रास्ता दिखाता है, अपने अनुभव साझा करता है और हमें प्रतिक्रिया भी देता हैं, हमें बताता है कि हम किस तरह से बेहतर कर सकते थे. यह महान कप्तान के संकेत हैं. कोहली को सीमित ओवरों की कप्तानी सौंपे जाने के तुंरत बाद पहले मुकाबले में मेहमान टीम ने 50 ओवरों में 351 रन का असंभव लक्ष्य दिया था जिसके बाद कोहली ने केदार जाधव के साथ मिलकर अपना 27वां शतक जड़ा और भारत को शानदार जीत दिलायी. महेंद्र सिंह धोनी के कप्तानी छोड़ने के बारे में राहुल ने कहा कि दोनों का टीम में होना अच्छा है.’

‘कोहली बेहद आक्रामक कप्तान’
राहुल ने कहा, ‘अभी सिर्फ एक ही मैच हुआ है, लेकिन जो खिलाड़ी टेस्ट टीम का हिस्सा हैं, वे जानते हैं कि वह कितना आक्रामक कप्तान है. हमें विराट के नेतृत्व में खेलना पसंद है.’ उन्होंने कहा, ‘उसने हमेशा मेरा समर्थन किया है और ऐसा युवा कप्तान होना अच्छा है और साथ ही हमारे साथ टीम में महेंद्र सिंह धोनी है जो कप्तान के तौर पर सिर्फ विराट को ही सलाह नहीं देते बल्कि युवाओं को भी सलाह देते हैं. दोनों का टीम में होना अच्छा है. पारी का आगाज करने के लिए अजिंक्य रहाणे के साथ थोड़ी सी प्रतिस्पर्धा है लेकिन राहुल ने कहा कि यह प्रेरणादायी है.’

ये कोच और कप्तान की सिरदर्दी है’
उन्होंने कहा, ‘हम जानते हैं कि अन्य खिलाड़ी भी काफी सक्षम हैं. यही चीज मुझे सुबह उठाती है और हर दिन कड़ी ट्रेनिंग कराती है. इससे हर दिन कड़ा अभ्यास करता हूं. राहुल ने कहा, मेरा स्थान लेने के लिए बेंच पर काफी प्रतिभाशाली खिलाड़ी इंतजार कर रहे हैं. यह अच्छा स्थान है. टीम में प्रतिस्पर्धा पसंद है. हम कभी भी प्रतिस्पर्धा या अन्य खिलाडि़यों के दबाव की शिकायत नहीं करते. यह आपको प्रेरित करता है. हम इसे सकारात्मक रूप से लेते हैं. हम हमेशा सकारात्मक बने रहने की कोशिश करते हैं. पारी का आगाज करने की जोड़ियों के बारे में पूछने पर राहुल ने कहा, ‘इससे मेरे ऊपर कोई असर नहीं पड़ता. यह कोच और कप्तान का सिरदर्द है. हम एक स्थान के लिए प्रतिस्पर्धा करने वाले खिलाड़ियों का होना पसंद करेंगे. हमें कड़ी ट्रेनिंग करनी चाहिए.’

Share With:
Rate This Article