खुफिया रिपोर्ट से हुआ खुलासा, दाऊद भारत के बेरोजगार लड़कों को कर रहा है रिक्रूट

रेलवे पुलिस की खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक दाऊद इब्राहिम भारत में बेरोजगार लड़कों को रिक्रूट कर रहा है। सूत्रों के मुताबिक, इन बेरोजगारों से पटरियां उड़ाने जैसे काम करवाए जाते हैं। महाराष्ट्र एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड को एक शख्स से पूछताछ के दौरान जानकारी मिली कि दुबई में दाऊद का करीबी शम्शुल होदा कानपुर जैसे ट्रेन हादसों के लिए फंडिंग और फैसिलिटी का इंतजाम कर रहा है। और, एक बार फिर दुबई-नेपाल लिंक एक्टिव हो गया है। रेलवे पुलिस की रिपोर्ट में पूछताछ के दौरान हुए खुलासों का जिक्र है। बता दें कि मंगलवार को बिहार पुलिस ने भी कानपुर ट्रेन हादसे के पीछे दुबई से फंडिंग का दावा किया था।
महाराष्ट्र ATS की पूछताछ में क्या सामने आया
– सोर्सेज ने बताया, “रिपोर्ट के मुताबिक महाराष्ट्र एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड ने इसी साल जनवरी में एक युवक बसंत कुमार से पूछताछ की।”
– “बसंत ने बताया कि कुछ लोग बिहार और उत्तर प्रदेश के युवाओं को अपने डायरेक्शन में काम करने के लिए पैसे दे रहे हैं।”
– “इन्हीं लोगों में से एक ने बसंत को 70 हजार रुपए देने की बात कही। बसंत समेत 10 युवाओं को रेलवे ट्रैक उड़ाने की टैक्नीक सिखाई गई।”
महाराष्ट्र ATS तक कैसे पहुंचा युवक
– जानकारी के के मुताबिक, “बसंत ने पूछताछ में ये कबूल किया कि इस ट्रेनिंग के बाद वो खुद को अपराधी जैसा महसूस कर रहा था। जिसके बाद वो अपने मामा के पास जोगेश्वरी (मुंबई) आ गया।”
– “इसके बाद बसंत ने इस पूरी बात की जानकारी रेलवे पुलिस को दी और फिर ये मामला महाराष्ट्र ATS को ट्रांसफर कर दिया गया।”
रेलवे की कॉन्फिडेंशियल रिपोर्ट में और क्या?
1# मास्टरमाइंड
– सोर्सेज ने बताया, “भारत में रिक्रूट और ट्रेन हादसों की साजिश के पीछे शम्शुल होदा नाम का शख्स का नाम आ रहा है।”
– “शम्शुल होदा दाऊद इब्राहिम करीबी बताया जा रहा है। ये शख्स दुबई में दाऊद के हवाला कारोबार को देखता है। ये शख्स ISI को भी फाइनेंस करता है।”
2# फंडिंग
– सोर्सेज के मुताबिक, “दाऊद ISI को रिक्रूटमेंट करने के लिए दुबई में शम्शुल होदा के जरिए फाइनेंस करवा रहा है। इंडिया में कानपुर रेल हादसे जैसी घटनाओं को अंजाम देने के लिए हवाला का इस्तेमाल किया जा रहा था।”
3# नेटवर्क
– सोर्सेज ने बताया, “रिपोर्ट में दुबई-नेपाल-इंडिया नेटवर्क का जिक्र है। शम्शुल होदा ने रकम हवाला के जरिए भेजी। नेपाल में आलम नाम के शख्स को ये रकम मिली और उसने लोकल मॉड्यूल के जरिए गोरखपुर और मोतिहारी में रकम भेजी।”
– “शम्शुल ने किश्तों में 25-30 लाख की रकम भेजी थी। भारत में नोटबंदी के बाद नेपाल में हादी साब नाम के लोकर रिक्रूट ने ये रकम नई करंसी में बदल दी।”
4# टारगेट
– रिपोर्ट के मुताबिक, “26 जनवरी को इन लोगों को इलाहाबाद-वाराणसी के बीच चलने वाली महानगरी एक्सप्रेस को डिरेल करने का टारगेट दिया गया। इस टारगेट के लिए 10 लोगों को ट्रेनिंग दी गई।”
– “बसंत से दोबारा पूछताछ की गई। तीन आरोपियों को बसंत के साथ फेस टू फेस इंटैरोगेशन में भी लाया गया। इनमें से एक को बसंत ने पहचाना,जो उसके साथ ट्रेनिंग में था।”
– “बसंत ने कहा कि उसके ट्रेनर ने दावा किया कि नवंबर में हुए कानपुर ट्रेन हादसे के पीछे उनका हाथ था।”
– “ट्रेनिंग के दौरान बसंत को दो युवकों से मिलवाया गया, जिन्होंने कानपुर ट्रेन हादसे को अंजाम दिया था। इसके लिए सुरेश नाम के हैंडलर ने 70 हजार रुपए दिए थे।”
मोतिहारी पुलिस का दावा: कानपुर रेल हादसे के पीछे ISI का हाथ
– बिहार पुलिस ने दावा किया है कि 20 नवंबर को कानपुर के पुखराया के पास हुआ रेल हादसा ISI की साजिश का नतीजा था।
– मोतिहारी के एसपी जितेंद्र राणा ने बताया कि गिरफ्तार किए गए तीन आरोपियों ने ये खुलासा किया। पूछताछ में पता लगा कि कानपुर रेल हादसे का मास्टर माइंड दुबई में बैठा नेपाल का कारोबारी शम्शुल होदा है।
– उसी ने इसके लिए फंडिंग की। जांच में सामने आया कि ये कारोबारी ISI को भी फंडिंग करता है।
– इस मामले में मोती पासवान, मुकेश यादव, उमाशंकर पटेल को घोड़ासहन से। बृजकिशोर, मुजाहिर अंसारी और शंभु गिरी को नेपाल से पकड़ा गया। जुबैर और जियाउल को दिल्ली से पकड़ा गया। मोती पासवान ने साजिश के दुबई कनेक्शन और ISI लिंक का खुलासा किया।
– बता दें कि मोती पासवान से मिली जानकारी के बाद बुधवार को बिहार ATS और नेपाल पुलिस के ज्वाइंट ऑपरेशन में नेपाल से 4 लोग और गिरफ्तार किए गए।
Share With:
Rate This Article