MH 370 विमान की तलाश खत्‍म, समुद्र में नहीं मिला कोई सुराग

सिडनी

हिंद महासागर में 8 मार्च 2014 को दुर्घटनाग्रस्त हुए मलेशिया एयरलाइंस के विमान MH 370 की समुद्र में तलाश को अब खत्म कर दिया गया है. इसकी आधिकारिक सूचना इस विमान हादसे में मारे गए यात्रियों के परिजनों को ईमेल के जरिए दे दी गई है.

इसमें कहा गया है कि आस्ट्रेलिया, चीन और मलेशिया द्वारा समुद्र में चलाए गए करीब 1,20,000 किमी के तलाशी अभियान में कुछ न मिल पाने की वजह से इस अभियान को अब खत्म किया जा रहा है.

इसमें साफतौर पर इस बात का जिक्र किया गया है कि हिंद महासागर के इतने बड़े इलाके में MH 370 की तलाशी के लिए सभी तरह की आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल किया गया. इसके बावजूद भी विमान का सुराग मिल पाने में सफलता हासिल नहीं हुई. अपने ईमेल में अधिकरियों में इस बात का जिक्र किया है कि MH 370 के तलाशी अभियान में सफलता के लिए दो वर्षों तक अथक प्रयास किए गए लेकिन सफलता नहीं मिली. इस घोषणा के बाद समुद्र के अंदर इस विमान की खोज में लगा अंतिम पोत भी वापस लौट आया है.

गौरतलब है कि कुआलांलमपुर से बीजिंग जा रहा यह विमान उड़ान भरने के कुछ समय बाद ही राडार से गायब हो गया था. इस विमान में कुल 239 लोग सवार थे। इस बाबत बनी जांच समिति ATSB ने अपनी रिपोर्ट में पिछले वर्ष कहा था कि दुर्घटना से पूर्व विमान से पायलट का पूरी तरह से संतुलन खत्म हो गया था, लेकिन अंतिम समय तक पायलट इसको बचाने के लिए कोशिशें करते रहे थे.

इस विमान में मलेशिया, चीन और ऑस्ट्रेलिया के अधिकतर यात्री सवार थे. पहले इस विमान की तलाश के लिए भारत ने भी अपने जहाज को लगाया था, लेकिन बाद में इन तीन देशों को छोड़कर सभी ने अपने को तलाशी अभियान से वापस कर लिया था. अब तक विमान के करीब 20 टुकड़ों को हिंद महासागर के विभिन्न जगहों से निकाला जा चुका है.

Share With:
Rate This Article