सड़कों पर स्पीड को लेकर SC ने पूछा- ‘क्या कोई पंचायत चल रही है ?’

सड़कों पर स्पीड गवर्नर को लगाने को लेकर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कड़ा रुख अपनाया. सुप्रीम कोर्ट ने उन सभी राज्यों के ट्रांसपोर्ट सचिवों को व्यक्तिगत तौर पर पेश होने को कहा है जिन्होंने अभी तक अपने जवाब दाखिल नहीं किये थे. वहीं मुख्य न्यायाधीश जे एस खेहर ने तमाम जनहित याचिकाओं पर राज्यों के जवाब न देने से नाराजगी जताई है.

जस्टिस खेहर ने टिप्पणी करते हुए कहा कि क्या यहां कोई पंचायत चल रही है जहां पर राज्य गंभीर नहीं हैं. सुप्रीम कोर्ट ने कड़ा रुख अपनाते हुए कहा कि आप सुप्रीम कोर्ट का मजाक क्यों उड़ा रहे हैं, सचिवों को कोर्ट में पेश होने दीजिए तब आपको पता चलेगा कि सुप्रीम कोर्ट क्या होता है.

गौरतलब है कि लगातार तेज गति के कारण हो रहे सड़क हादसों को लेकर सुप्रीम कोर्ट गंभीर है. केंद्रीय परिवहन मंत्रालय ने 1 नवंबर को सभी वाहनों पर स्पीड गवर्नर लगाने का आदेश दिया था. स्पीड गवर्नर सड़कों पर चल रहे वाहनों की गति पर नजर रखता है और अधिक स्पीड होने पर यह सूचित करता है.

Share With:
Rate This Article