..जब दाउद ने ऋषि कपूर को चाय पर बुलाया

ऋषि कपूर अपनी ऑटोबायोग्राफी ‘खुल्लम खुल्ला- ऋषि कपूर अन्सेन्सर्ड’ को लेकर काफी चर्चा में हैं। बायोग्राफी में ऋषि ने अपनी जिंदगी के दिलचस्प पहलुओं पर खुलकर बात की है। यही नहीं ऋषि ने किताब में अंडरवर्ल्ड के डॉन दाऊद इब्राहिम से उनकी मुलाकात के बारे में कई रोचक खुलासे भी किए हैं।

जब दाऊद ने ऋषि को किया चाय पर इनवाइट
ऋषि कपूर ने अपनी बायोग्राफी में लिखा, “फेम ने मुझे कई अच्छे लोगों से कॉन्टेक्ट कराया, तो वहीं कुछ संदिग्ध लोगों से भी मिलवाया। उन लोगों में एक दाऊद इब्राहिम भी था। बात साल 1988 की है। मैं अपने क्लोज फ्रेंड बिट्टू आनंद के साथ दुबई गया था जहां मुझे आशा भोसले और आरडी बर्मन का नाइट प्रोग्राम अटेंड करना था। दाऊद का एक आदमी एयरपोर्ट पर रहता था जो उसे वीआईपी लोगों की खबरें देता था। तभी एक अजनबी शख्स ने मेरे पास आकर मुझे फोन दिया और कहा- दाऊद साहब बात करेंगे। ये सब बात 1993 के मुंबई ब्लास्ट से पहले की थी। मुझे नहीं लगता था कि दाऊद भागा हुआ था और ना ही वो उस स्टेट का दुश्मन था। दाऊद ने मेरा स्वागत किया और कहा – किसी भी चीज की जरूरत हो तो बस मुझे बता देना। उसने मुझे अपने घर भी बुलाया। मैं भौंचक्का था।”

दाऊद ने ऋषि को भेजा चाय का बुलावा
बायोग्राफी में ऋषि आगे लिखते हैं “कुछ टाइम बाद मुझे एक लड़के से मिलवाया गया जो ब्रिटिश जैसा दिखता था। वो बाबा था, दाऊद का राइट हैंड था। उसने मुझसे कहा- दाऊद साहब आपके साथ चाय पीना चाहते हैं। मुझे इसमें कुछ गलत नहीं लगा और मैंने न्यौता स्वीकार कर लिया। उस शाम मुझे और बिट्टू को हमारे होटल से एक चमकती हुई रोल्स रॉयस में ले जाया गया।  हमें सर्कल में ले जाया गया था इसलिए हमें लोकेशन सही से समझ नहीं आई। दाऊद से मुलाकात में उन्होंने सूट पहना हुआ था आते उन्होंने कहा कि मैं ड्रिंक नहीं करता इसलिए मैंने आपको चाय पर बुलाया। इसके बाद हमारा चाय और बिस्किट का सेशन 4 घंटे चला।”

बातचीत में दाऊद ने मुंबई कोर्ट मर्डर केस पर दी सफाई
“दाऊद से मेरी कई सारे बातें हुई जिसमें उसकी क्रिमिनल एक्टिविटीज भी शामिल थीं जिस पर उसे कोई रिग्रेट्स नहीं था। उन्होंने मुंबई कोर्ट मर्डर का जिक्र करते हुए कहा – उस शख्स को मैंने इसलिए शूट किया था क्योंकि नो अल्लाह शब्द के खिलाफ जा रहा था। और मैं अल्ला का बंदा हूं इसलिए मैंने उसे शूट किया। इस रियल लाइफ मर्डर सीन को बाद में फिल्म अर्जुन(1985) फिल्माया गया।”

Share With:
Rate This Article