राजनीति में आएंगी जयललिता की भतीजी दीपा जयकुमार, राज्य में लगे पोस्टर्स

जयललिता की तरह दिखने वाली उनकी भतीजी दीपा जयकुमार ने राजनीति में अपने बुआ के नक्शेकदम पर चलने का फैसला किया है। जया के निधन के 42 दिन बाद मंगलवार को अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में दीपा ने कहा, “मैं 24 फरवरी को बुआ के जन्मदिन पर इस बारे में अपने प्लान का एलान करूंगी।”

जयललिता के बड़े भाई जयकुमार की बेटी हैं दीपा
– दीपा, जयललिता के बड़े भाई जयकुमार की बेटी हैं। जयकुमार का भी निधन हो चुका है।
– तमिलनाडु की 6 बार सीएम रहीं जयललिता का पिछले साल 5 दिसंबर को निधन हो गया था।
– मंगलवार को सत्तारूढ़ AIADMK के फाउंडर एमजी रामचंद्रन का 100वां जन्मदिवस है।
– इस मौके पर जया की मेंटर दीपा ने कहा, “मैंने सही वक्त पर राजनीतिक कॅरियर शुरू करने की योजना बनाई है।”
– “आज से मैं अपनी जिंदगी का एक नया दौर शुरू कर रही हूं।”

राज्य में जया के साथ दीपा के पोस्टर्स
– राज्य में पिछले कुछ हफ्तों से दीपा के जयललिता के साथ पोस्टर्स नजर आ रहे हैं।
– ये पोस्टर्स AIADMK में दीपा के सपोर्टर्स ने लगाए हैं। इनमें दीपा काे जया की स्टाइल में दिखाया गया है।
– एआईएडीएमके का एक गुट दीपा को जयललिता की करीबी दोस्त शशिकला नटराजन के मुकाबले देख रहा है।
– शशिकला को हाल ही में पार्टी का जनरल सेक्रेटरी चुना गया है। उनकी देखरेख में ही पार्टी काे आगे बढ़ाने का फैसला हुआ है।

मुझे कई लोगों ने बुआ का उत्तराधिकारी माना
– दीपा ने कहा, “खून का रिश्ता होने के चलते मैंने कई बार बुआ के साथ रहने की कोशिश की। वह ऐसी शख्स थीं जिनसे मैं सबसे ज्यादा प्यार करती थी।”
– “यहां तक कि कई लोगों ने साफ तौर पर मुझे उनके उत्तराधिकारी के रूप में देखा।”
– बता दें कि दीपा ने शशिकला को जया का उत्तराधिकारी बताने और उन्हें पार्टी चीफ बनाने पर दिसंबर में एतराज जताया था।
– उन्होंने कहा था, “यह दुर्भाग्यपूर्ण है। इससे असंतोष भड़क सकता है। यह गलत है कि बुआ ने शशिकला या उनके किसी रिश्तेदार को उत्तराधिकारी घोषित किया था।”
– “इसके बजाए बुआ ने उन्हें (शशिकला) राजनीति से बाहर रखा था। जबकि मैं घर की हूं, शशिकला को लेकर गलतफहमी बहुत है।”
– “शशिकला ने मेरी बुआ के पीठ पीछे और उनकी जानकारी के बिना बहुत कुछ किया। पता चलने पर बुआ नाराज भी होती थीं।”

पिछले महीने चर्चा में आई थीं दीपा
– लंदन में पढ़ीं दीपा जयकुमार पिछले साल दिसंबर में तब चर्चा में आई थीं, जब उन्हें चेन्नई के अपोलो हॉस्पिटल में भर्ती जयललिता के पास जाने की इजाजत नहीं दी गई।
– दीपा ने बाद में यह आरोप भी लगाया था कि उन्हें जयललिता के अंतिम संस्कार में भी जाने से रोक दिया गया था।
– दीपा और जयललिता के बीच दूरी 2007 में आई थी। उस वक्त जयललिता ने शशिकला के भतीजे को गोद लिया था। उसके बाद दीपा ने जयललिता से कभी मुलाकात नहीं की। न ही पोएस गार्डन स्थित जया के घर पर गईं।
– जयललिता के पिता के निधन के बाद दोनों के बीच कभी भी कम्युनिकेशन नहीं हुआ।

Share With:
Rate This Article