तुर्की एयरलाइंस का कार्गो जेट कोहरे के चलते क्रैश, 32 लोगों की मौत

बिशकेक

किर्गिस्तान ने कहा है कि बिशकेक हवाई अड्डे के पास सोमवार को एक कार्गो विमान के क्रैश होने के कारण कम से कम 32 लोगों की मौत हो गई, जिनमें छह बच्‍चे भी शामिल हैं. इस हादसे में घरों को भी भारी नुकसान पहुंचा. हवाई अड्डे के अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

किर्गिज अधिकारियों ने कहा कि मारे गए लोगों में से गांव के निवासी हैं, जोकि घने कोहरे में लैंडिंग की कोशिश कर रहे बोइंग 747 के दुर्घटनाग्रस्‍त होने से मारे गए.

एयरपोर्ट प्रशासन के अनुसार, यह विमान लैंडिंग की कोशिश के दौरान खराब दृश्‍यता के कारण स्‍थानीय समयानुकसार 7.31 बजे (0131 GMT) दुर्घटनाग्रस्‍त हुआ.

देश के आपात सेवा मंत्रालय के एक प्रवक्ता मोहम्मद सवारोव ने बताया कि मारे जाने वाले लोगों में से ज्यादातर लोग नजदीकी गांव डचा-सू के नागरिक हैं. यहां स्थानीय समयानुसार सुबह साढ़े सात बजे यह विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ. सवारोव ने बताया कि मारे जाने वाले लोगों की कुल संख्या ‘अधिक हो सकती है’. उन्होंने बताया कि अधिकारियों ने भारी पैमाने पर तलाशी और बचाव अभियान शुरू कर दिया है. उन्होंने बताया, ‘महत्वपूर्ण कार्य जारी है’. उन्होंने बताया, ‘गांव में अवसंरचना को क्षति पहुंची है’. आपात सेवा मंत्रालय ने बताया कि मरने वाले लोगों में कम से कम चार पायलट भी शामिल हैं. तुर्की एयरलाइंस का यह विमान हांगकांग से किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक के रास्ते इस्तांबुल जा रहा था. एक पायलट का शव मिलना अभी बाकी है.

आपात सेवा मंत्रालय के मुताबिक, हादसे में करीब 43 मकानों को क्षति पहुंची है. बताया गया है कि दुर्घटना के कारण आग लग गई थी और फैल गई थी, लेकिन अब इसे एक स्थान पर रोक दिया गया है.

देश के आपात सेवा मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि मारे जाने वाले लोगों में से ज्यादातर नजदीकी गांव डचा-सू के हैं, जहां पर विमान स्थानीय समयानुसार सुबह साढ़े सात बजे दुर्घटनाग्रस्त हुआ. तुर्की एयरलाइंस का यह विमान हांगकांग से किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक के रास्ते इस्तांबुल जा रहा था. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि हादसे में चार पायलट भी मारे गए हैं.

Share With:
Rate This Article