पर्यटन नगरी के तौर पर मशहूर इस शहर की झीलें और वॉटर फॉल जमे, झील को चलकर पार कर रहे हैं लोग

डलहौजी –

हिमाचल प्रदेश की पर्यटन नगरी के तौर विख्यात डलहौजी में भारी हिमपात के बाद पारा शून्य से नीचे पहुंच चुका है…जिस वजह से जिले की सभी झीलों और जलाशयों का पानी जम गया है…कई जलाशयों में पूरी तरह से तो कई जलाशयों में आंशिक रूप से पानी जमने की वजह से लोगों को पीने के पानी के लिए भी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है । हालात इतने खराब हैं कि नदी, नालों और तालाबों के साथ नल का पानी भी जम गया है…

dalhauzi 4

जिले की सभी झीलों समेत पर्यटकों की पसंदीदा मणिमहेश झील, लम्ब डल, कमल कुंड के साथ-साथ पर्यटक स्थल पंजपुला की झील भी पूरी तरह से जम चुकी है..यहां पर जो पर्यटक पंजपुला झील की खूबसूरती देखने के लिए पहुंचे थे, अब झील के ऊपर चहलकदमी करते नजर आ रहे हैं । कभी इस झील पर देश के कोने-कोने से आने वाले पर्यटक बोटिंग किया करते थे लेकिन अब वो बोट भी झील के पानी में जम गई है..तैरने की बात तो छोड़ दीजिए बोट अपनी जगह से हिल तक नहीं सकती…प्राकृतिक जल के स्त्रोत भी पूरी तरह से जम गए हैं ।

dalhauzi 3

चंबा जिले के डलहौजी के पर्यटक स्थल पंचपुल्ला में न्यूनतम तापमान माइनस नौ डिग्री तक पहुंच गया था….बीत हफ्ते का वीरवार सबसे ठंडा दिन रहा..आने वाले कुछ दिनों तक इस ठंड से निजात मिलने की संभावना नजर नहीं आ रही है ।

स्थानीय लोगों को भले ही मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा हो..लेकिन पर्यटकों को ये ठंडक बहुत भा रही है….थोड़ी सी धूप निकलते ही यहां पर पहुंचे पर्यटकों ने एमएचवन न्यूज़ संवाददाता को बताया कि ठंड ज्यादा होने के बावजूद यहां पर उन्हें काफी मजा आ रहा है…उन्होंने पहली बार जमी हुई झील देखी है ऐसे में उनका इतनी दूर आना सफल हो गया है ।

dalhauzi 2

यहां के स्थानीय दुकानदारों ने बताया कि दो साल बाद झील और वॉटरफॉल इस तरह से जम गए हैं ..पत्थर फेंकने पर भी झील नहीं टूटती है और इसे चलकर भी पार किया जा सकता है…..

Share With:
Rate This Article