दुनिया में परमाणु हमले का खतरा बढ़ाने में पाकिस्तान का योगदान है: अमेरिका

वाशिंगटन

अमेरिका के निवर्तमान उपराष्ट्रपति जो बिडेन ने परमाणु युद्ध का खतरा बढ़ाने के लिए पाकिस्तान को कसूरवार करार दिया है. जो बिडेन ने कहा है कि सिर्फ उत्तर कोरिया नहीं, बल्कि रूस, पाकिस्तान और अन्य देशों ने ऐसे कदम उठाए हैं, जिनसे दुनिया में परमाणु युद्ध का खतरा बढ़ गया है.

परमाणु सुरक्षा के मुद्दे पर बोलते हुए जो बिडेन ने कहा, इन देशों द्वारा उठाए गए कदमों से यह खतरा बढ़ गया है कि यूरोप, दक्षिण एशिया अथवा पूर्वी एशिया में किसी भी क्षेत्रीय संघर्ष में परमाणु हथियार का इस्तेमाल किया जा सकता है.
बिडेन ने कहा कि कांग्रेस के साथ काम करते हुए अगले प्रशासन को इन खतरों को संभालना होगा तथा हमारे विश्व में परमाणु हथियारों को कम करने के लिए वैश्विक आम सहमति बनाने का नेतृत्व करना होगा. उन्होंने कहा, “सिर्फ एक परमाणु बम भी भयावह नुकसान कर सकता है… इसलिए आठ साल पहले जब राष्ट्रपति बराक ओबामा और मैंने कार्यभार संभाला था, परमाणु हमले का खतरा कम करना राष्ट्रीय सुरक्षा की मुख्य प्राथमिकता रहा है…”

उन्होंने कहा कि अमेरिकी नेतृत्व की बदौलत अंतरराष्ट्रीय समुदाय भी अब परमाणु आतंकवाद के खिलाफ फोकस बना चुका है. अमेरिकी उपराष्ट्रपति ने ओबामा प्रशासन द्वारा पिछले आठ साल में उठाए गए कदमों का उल्लेख करते हुए कहा कि इन प्रयासों से परमाणु हथियारों में इस्तेमाल होने वाली सामग्री की आपूर्ति में कमी आई है.

Share With:
Rate This Article