विचाराधीन मामले के नाबालिग आरोपी ने जज को दी जा़न से मारने की धमाकी

गन्नौर न्यायिक परिसर में जज को जान से मारने की धमकी देने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। धमकी देने का आरोपी नाबालिग बताया जा रहा है। न्यायालय में विचाराधीन मामले की सुनवाई के बाद दूसरे पक्ष को बरी करने पर उसने जज को ही जान से मारने की धमकी दे डाली। जज ने आरोपी के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करवा दी, जिस पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। गन्नौर की मोई माजरी निवासी बीरमती औक  गांव के ही रामचंद्र दोनों पक्षों का किसी मामले को लेकर वर्ष 2007 से गन्नौर अदालत में केस चल रहा था। एस.डी.जे.एम. अमित कुमार की अदालत में दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद रामचंद्र पक्ष को बरी कर दिया।

इस पर अदालत में मौजूद बीरमति का बेटा भड़क गया। वो इतना ताव में आ गया कि उसने एस.डी.जे.एम. अमित कुमार को अदालत में जान से मारने की धमकी दे डाली। इस पर पुलिस ने साहिल को अपने कब्जे में लिया। बाद में एस.डी.जे.एम. अमित कुमार ने पुलिस में आरोपी के खिलाफ  शिकायत दर्ज करवा दी। जिस पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। थाना प्रभारी देवेंद्र कुमार ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी नाबालिग है। पुलिस ने आरोपी को सोनीपत अदालत में पेश किया, जहां अदालत ने उसे स्पैशल होम भेज दिया।

Share With:
Rate This Article