हाफि‍ज सईद ने देश के खिलाफ फिर उगला जहर, अखनूर हमले को बताया ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ का बदला

भारत के खिलाफ आग उगलने वाले लश्कर ए तैयबा और जमात-उद-दावा के प्रमुख हाफिज सईद ने एक ऐसा बयान दिया है जो कहीं से भी तार्किक नजर नहीं आ रहा है. उसने अखनूर हमले को भारतीय सेना पर आतंकियों द्वारा की गई ‘सर्जिकल स्ट्राइल’ करार दिया है.

POK के मुज्जफराबाद में एक कार्यक्रम के दौरान हाफिज सईद ने कहा कि अखनूर हमले में आतंकियों ने भारतीय सेना के कैंप को पूरी तरह से नष्ट कर दिया और तीस जवानों को खत्म कर दिया. इतना ही नहीं हमारे लड़ाके वहां से वापस आने में कामयाब भी हो गए.

भारत के खिलाफ आग उगलते हुए उसने कहा कि महज चार मुजाहिद्दिनों ने भारतीय सेना के कैंप को पूरी तरह से नष्ट करने का काम किया है जिसपर हमें फक्र है. हाफिज ने कहा कि हमारे लड़ाकों ने इस सर्जिकल स्ट्राइक में सेना के दस कमरे तबाह कर दिए जिसमें तीस जवान मारे गए.

भारत के न्यूज चैनलों का मजाक उड़ाते हुए उसने कहा कि अखनूर हमले में महज तीन मजदूरों के मारे जाने की बात पेश की. उसने जिहाद को धर्मयुद्ध बताया और कहा कि यही एकमात्र वह तरीका है जिससे कश्मीर को भारत से आजाद कराया जा सकता है.

आगे हाफिज ने कहा कि कश्मीर और पाकिस्तान में रहने वाले सभी मुस्लिमों का यह फर्ज है कि वह सभी इस जिहाद के लिए हमारे साथ आयें.

हाफिज ने कहा कि  अखनूर में हमला करके हमने भारत द्वारा सितंबर के महीने में किए गए सर्जिकल स्ट्राइक बदला ले लिया है. हालांकि उसने अपने इस भाषण में यह साफ नहीं किया कि अखनूर हमले को अंजाम देने वाले आतंकी लश्कर के थे या फिर कोई और…

यहां उल्लेख कर दें कि पिछले वर्ष ही सितंबर में आतंकिेयों ने उड़ी स्थित सेना के कैंप पर हमला किया था जिसके बाद 28-29 सितंबर की रात भारतीय सेना ने पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक करके आतंकियों के ठिकानों को तबाह कर दिया था. इस पूरे ऑपरेशन में करीब तीस आतंकी ढेर कर दिए गए थे जबकि उनके कई कैंपों को पूरी तरह से नष्ट कर दिया गया था.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment