जानिए, केरल की कौनसी तकनीक अपनाकर हिमाचल बढ़ाएगा उत्पादन

वन एवं मत्स्य मंत्री ठाकुर सिंह भरमौरी इन दिनों केरल दौरे पर हैं। भरमौरी ने केरल की मात्स्यिकी हार्बर इंजीनियरिंग तथा काजू उद्योग मंत्री जे मरकुट्टी अम्मा के साथ मत्स्य विकास को लेकर बैठक की। दोनों प्रदेशों के मत्स्य मंत्रियों की इस बैठक में मात्स्यिकी विकास के लिए चलाई जा रही योजनाओं पर विस्तृत चर्चा हुई। वन मंत्री ने बताया कि केरल में समुद्री प्रजाति की मछलियों के दोहन का व्यवसाय राज्य की आर्थिकी और मछुआरों के उत्थान में अहम भूमिका निभा रहा है।

जबकि हिमाचल प्रदेश में ताजे पानी की मछली प्रजाति के पालन और दोहन का व्यवसाय भी अहम  है। ऐसे में केरल में स्थापित विभिन्न एक्वेरियम हाउस का अध्ययन कर हिमाचल में भी अच्छे एक्वेरियम स्थापित करने की योजना तैयार की जाएगी।

बैठक के बाद मंत्री त्रिवेंद्रम से 40 किमी की दूरी पर वरकला बीच में मत्स्य विभाग की ओर से बनाए गए एक्वेरियम को देखा। एक्वेरियम के डिजाइन के अलावा वहां प्रदर्शित समुद्री और ताजा जल की सजावटी मछलियों के बारे में भी जानकारी ली।

Share With:
Rate This Article