श्रीगनर में मौसम की पहली बर्फबारी

श्रीनगर

राज्य के सभी उच्चपर्वतीय इलाकों में बुधवार दूसरे दिन भी हिमपात जारी रहा. श्रीनगर के निचले क्षेत्रों में मौसम की पहली बर्फबारी हुई, हालांकि यह ज्यादा देर नहीं हुई और उसके बाद रुक-रुककर बारिश जारी रही. पहाड़ी क्षेत्रों में हिमपात से जिला मुख्यालयों को जोड़ने वाले कई लिंक मार्ग बंद हो गए हैं.

इसके साथ ही 430 किलोमीटर लंबे श्रीनगर-लेह हाईवे को छह महीने के लिए यातायात के लिए बंद कर दिया गया है. इस हाईवे को अब मई महीने के अंत में खोला जाएगा. वहीं कश्मीर को जम्मू संभाग से जोड़ने वाला मुगल रोड़ व किश्तवाड़ का संथनटॉप मार्ग तीसरे दिन भी बंद रहा. अलबत्ता, वादी को देश-दुनिया से मिलाने वाला जम्मू-श्रीनगर हाईवे खराब मौसम के बावजूद यातायात के लिए खुला रहा.

हवाई यातायात भी सुचारु ढंग से जारी रहा. इधर, जम्मू में दिनभर घने बादल छाए रहे और कुछ क्षेत्रों में हल्की बूंदाबांदी भी हुई. इस बीच, मौसम विभाग ने अगले चौबीस घंटों के दौरान भी बर्फबारी व बारिश का सिलसिला जारी रहने की संभावना जताई है.

वादी में गुलमर्ग समेत उच्चपर्वतीय इलाकों व निचले क्षेत्रों में तड़के बर्फबारी के बाद दिनभर रुक-रुक कर बारिश होती रही. श्रीनगर में बर्फबारी का सिलसिला कुछ मिनटों तक जारी रहा. बर्फबारी को देखकर लोगों के चेहरे खिल गए, लेकिन वह बर्फ के गोले बना शीन जंग (एक-दूसरे पर बर्फ के गोले फेंकना) न कर सके.

गुलमर्ग में एक फुट, सोनमर्ग में डेढ़ फुट, साधना टॉप में दो फुट, शौपियां में आठ इंच और गुरेज में नौ इंच ताजा बर्फ रिकॉर्ड की गई. वहीं बर्फबारी के चलते बांडीपुर-गुरेज मार्ग तथा कुपवाड़ा-टंगडार मार्ग यातायात के लिए एहतियातन बंद कर दिए गए हैं. इधर, जम्मू संभाग के किश्तवाड़ के मैदानी इलाकों में बारिश और पहाड़ों पर बर्फबारी का दौर दूसरे दिन भी जारी रहा. संथनटॉप में जमा बर्फ की सफेद चादर और मोटी हो गई है. नत्थाटॉप में भी बर्फबारी हुई.

ताजा बर्फबारी से ठंड का प्रकोप भी बढ़ गया है. श्रीनगर में दिन का अधिकतम तापमान 5.3 डिग्री व न्यूनतम -0.1 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया. पहलगाम में न्यूनतम तापमान -1.5, गुलमर्ग में -1.9, लेह में -7.7 व कारगिल में -5.2 डिग्री रिकॉर्ड किया गया.

Share With:
Rate This Article