केंद्र सरकार का आदेश, कश्मीर घाटी से नहीं हटेगी CRPF

केंद्र सरकार का आदेश, कश्मीर घाटी से नहीं हटेगी CRPF

जम्मू

घाटी से फिलहाल सीआरपीएफ नहीं हटेगी. पूर्व मुख्यमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद की बरसी तक कंपनियों को रोकने का केंद्र सरकार की ओर से आदेश आया है. अमरनाथ यात्रा और कश्मीर हिंसा के दौरान सुरक्षा व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने के लिए केंद्र की ओर से 100 से अधिक कंपनियां भेजी गई थीं. पहले चरण में 40 से अधिक कंपनियों को भेजा जाना था.

आतंकी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद घाटी में भड़की हिंसा लगभग थम गई है. हालात तेजी से सामान्य हो रहे हैं. ऐसे में केंद्र सरकार ने सीआरपीएफ की अतिरिक्त कंपनियों को बुलाने का फैसला किया. कंपनियां उन इलाकों से हटाई जाएंगी जहां हालात सामान्य हो गए हैं.

केंद्र सरकार ने ऐसे इलाकों को चिह्नित करने को भी कहा है जहां से सीआरपीएफ को हटाने के बाद कानून व्यवस्था की स्थिति बिगड़ने का अंदेशा न हो. इसके तहत पहले चरण में 40 कंपनियों को वापस भेजने का फैसला किया गया जो वैसे इलाकों में तैनात हैं जहां हिंसा पूरी तरह थम गई है और लोग अपने सामान्य कामकाज में जुट गए हैं.
crpf1
सूत्रों ने बताया कि घाटी से वापस बुलाई जा रही CRPF को पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव में तैनात किया जाएगा. CRPF के प्रवक्ता राजेश यादव ने बताया कि फिलहाल सीआरपीएफ कंपनियों को वापस भेजने का फैसला पूर्व सीएम मुफ्ती मोहम्मद सईद की बरसी यानी सात जनवरी तक रोक दिया गया है. आगे कब वापसी होगी, इसके लिए कोई आदेश नहीं मिला है। वैसे इलाके चिह्नित कर लिए गए हैं जहां से सुरक्षा बल को हटाने के बाद कानून व्यवस्था की समस्या उत्पन्न नहीं होगी.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment