पैलेट गन की जगह बदबूदार पानी जैसा ऑप्शन ढूंढें, ताकि किसी को नुकसान न हो: SC

सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला, कहा- धर्म के आधार पर वोट मांगना गैरकानूनी

दिल्ली

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को ऐतिहासिक फैसला लेते हुए कहा है कि धर्म के नाम पर वोट मांगना गैरकानूनी होगा. 7 जजों की सविधांन पीठ ने यह फैसला हिंदुत्व से जुड़े एक केस की सुनवाई के दौरान लिया है.

फैसले में कहा गया कि प्रत्याशी या उसके समर्थक धर्म, जाती, समुदाय और भाषा के नाम पर वोट मांगते हैं तो यह गैरकानूनी होगा. कोर्ट ने कहा कि चुनाव एक धर्मनिरपेक्ष पद्धति है. माना जा रहा है कि आने वाले 5 राज्यों के चुनावों पर इस फैसले का असर पड़ेगा.

उच्चतम न्यायालय ने बहुमत के आधार पर अपने फैसले में कहा कि धर्म के आधार पर वोट देने की कोई भी अपील चुनावी कानूनों के तहत भ्रष्ट आचरण के बराबर है. सुप्रीम कोर्ट ने टिप्पणी की कि भगवान और मनुष्य के बीच का रिश्ता व्यक्तिगत मामला है. कोई भी सरकार किसी एक धर्म के साथ विशेष व्यवहार नहीं कर सकती, एक धर्म विशेष के साथ खुद को नहीं जोड़ सकती.

Share With:
Rate This Article
No Comments

Leave A Comment