US राजनयिकों को नहीं निकालेगा रूस, ट्रंप की नीतियों का करेंगे इंतजार

मॉस्को/वाशिंगटन

रूस ने अमेरिकी प्रतिबंधों के खिलाफ ‘पर्याप्त प्रतिशोध’ का संकल्प जताते हुए आरोप लगाया कि वाशिंगटन उस पर अमेरिकी चुनाव में ‘निराधार’ संलिप्तता के आरोप लगाकर संबंधों को समाप्त करने की कोशिश कर रहा है.

रूसी राष्ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन ने शुक्रवार को कहा कि रूस अपने यहां से किसी अमेरिकी राजनयिक को निष्कासित नहीं करेगा. अमेरिकी चुनाव में कथित दखल के आरोप में अमेरिका द्वारा रूसी राजनयिकों को निकाले जाने के बाद रूस का यह फैसला आश्चर्यजनक माना जा रहा है. ऐसा इसलिए कि ऐसी खबरें थीं कि पुतिन जवाबी कार्रवाई कर सकते हैं.

क्रेमलिन के प्रवक्ता दामित्री पेस्कोव ने कहा कि अमेरिका निश्चित तौर पर रूस के साथ अपने संबंधों को समाप्त करना चाहता है जो पहले ही बहुत तनावपूर्ण हो चुके हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि रूस पारस्परिकता के सिद्धांत के आधार पर, पर्याप्त तरीके से इस पर प्रतिक्रिया देगा.
वाशिंगटन ने रूस की दो शीर्ष खुफिया एजेंसियों पर प्रतिबंध लगाने, 35 एजेंटों का निष्कासन और अमेरिका में दो रूसी परिसरों को बंद करने सहित रूस के खिलाफ कुछ प्रतिबंधों की घोषणा की है.

रिया-नोवोस्ती समाचार एजेंसी के अनुसार, पेस्कोव ने कहा, हम स्पष्ट रूप से निराधार दावों और आरोपों को खारिज करते हैं. अंतरराष्ट्रीय मामलों की स्टेट ड्यूमा कमेटी के अध्यक्ष लियोनिद स्लूत्स्की ने कहा कि रूस पर अमेरिका के प्रतिबंध और पिछले 72 घंटों में 35 एजेंटों के निष्कासन से पता चलता है कि वह (अमेरिका) किस हद तक भ्रमित है. रिया-नोवोस्ती के अनुसार, उन्होंने कहा कि वह एक बार फिर हमारे देश के खिलाफ बहुत आक्रामक कदम उठा रहे हैं.

Share With:
Rate This Article